DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज ददई थाम सकते हैं टीएमसी का दामन

आज ददई थाम सकते हैं टीएमसी का दामन

रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरो। झारंखड के चर्चित मंत्री रहे चंद्रशेखर दूबे उर्फ ददई अपनी पार्टी कांग्रेस से तौबा कर सकते हैं। उनके तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। ददई को हाल ही में हेमंत सोरेन के मंत्रिमंडल से निकाल दिया गया था। सूत्रों के मुताबिक ददई धनबाद से लोकसभा टिकट चाहते हैं। यदि कांग्रेस ने उनकी यह मांग नहीं मानी तो वे पार्टी छोड़ देंगे। इधर, तृणमूल कांग्रेस ने झारखंड में राजनीतिक सेंधमारी की पूरी तैयारी कर ली है।

पार्टी अभी और झटके देगी। झारखंड के कद्दावर नेताओं की कोलकाता में स्क्रीनिंग की जा रही है। इसके साथ ही झारखंड के ख्यातिप्राप्त कलाकारों, खिलाड़ियों, साहित्यकारों और सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों की तलाश की जा रही है। इसकी मॉनिटरिंग पार्टी के केंद्रीय नेता कर रहे हैं।

निर्दलीय विधायकों पर नजरः तृणमूल कांग्रेस की नजर निर्दलीय विधायकों पर है। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री भानू प्रताप शाही से बातचीत हो चुकी है। भानू को शामिल करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इम माह बड़ी रैली कर कई विधायकों और कद्दावर नेताओं को पार्टी में शामिल कराया जाएगा।

इशारों में काफी कुछ कह गए मुकुल रायतृणमूल कांग्रेस के केंद्रीय महासचवि मुकुल राय को झारखंड की जिम्मेवारी सौंपी गई है। तीन मार्च को राय इशारों में ही काफी कुछ कह गए। उन्होंने कहा कि पार्टी का एजेंडा झारखंड के मुद्दे से हू-ब-हू मिलता है।

ममता बनर्जी भी जल, जंगल और जमीन की लड़ाई लड़ रही हैं। झारखंड में भी कमोबेश यही मसला है।

छह लोकसभा सीटों पर है फोकसः तृणमूल कांग्रेस छह लोकसभा सीटों पर फोकस कर रही है। राय ने स्पष्ट किया है कि फिलहाल पार्टी लोकसभा सीटों पर ही पूरी ताकत लगाएगी।

रांची, लोहरदगा, जमशेदपुर, बोकारो, दुमका और धनबाद पर पार्टी में जल्द ही सम्मेलन होगा। इसमें ममता बनर्जी, अन्ना हजारे और बुखारी भी हिस्सा लेंगे। बंधु तिर्की और चमरा लिंडा को इसकी तैयारी के लिए निर्देश भी दिया गया है।

झामुमो विधायक भी संपर्क में- झामुमो विधायक पौलुस सुरीन भी तृणमूल के संपर्क में हैं। उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव पर विचार किया जा रहा है। समय आने पर खुलासा कर देंगे। झामुमो द्वारा किए गए शोकॉज पर कहा कि जवाब देने की जरूरत नहीं है।

उनके सवाल का जवाब उन्हीं के पास है। गीता कोड़ा, विदेश सिंह से भी तृणमूल कांग्रेस ने संपर्क साधा है। विधानसभा सत्र के बाद होगा खुलासाविधानसभा सत्र के बाद तृणमूल कांग्रेस बड़ा खुलासा कर सकती है। सत्र के बाद पार्टी के कई केंद्रीय नेता झारखंड आएंगे।

विधायकों और कद्दावर नेताओं का मन टटोलने की जिम्मेवारी बंधु तिर्की को दी गई है। हेमंत सरकार पर गहरा सकता है संकटतृणमूल कांग्रेस की सेंधमारी से हेमंत सरकार पर संकट गहरा सकता है। केंद्रीय महासचवि मुकुल राय ने कहा है कि लोकसभा चुनाव के बाद समर्थन वापसी पर फैसला लेंगे।

चुनाव के लिए जल्द ही घोषणा पत्र जारी किया जाएगा। इसमें स्थानीयता के मुद्दे पर भी बात होगी। अब तक तृणमूल में ये नेता शामिलबंधु तिर्की, चमरा लिंडा, आश्रिता टुटी, अकलू राम महतो, दिलीप चटर्जी, लालू सोरेनये हो सकते हैं शामिलपौलुस सुरीन, भानू प्रताप शाही, विदेश सिंह और गीता कोड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आज ददई थाम सकते हैं टीएमसी का दामन