DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चौबे ने भाजपा नेतृत्व पर बोला हमला

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। लोकसभा चुनाव के ऐन पहले भाजपा में अंदरूनी कलह सतह पर आ गई है। इसकी झलक मंगलवार सुबह हुई प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में भी देखने को मिली। पार्टी सूत्रों के मुताबिक बैठक में पूर्व मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने हाल में हुए कुछ निर्णयों को लेकर प्रदेश नेतृत्व पर करारा हमला बोला। कहा कि पार्टी में शामिल होने वालों के चाल-चरित्र और चेहरे पर ध्यान नहीं दिया गया, तो 40 सीटों पर जीत हासिल करना मुश्किल होगा।

कुछ अन्य नेताओं के भी भारी विरोध के बीच यह बैठक चली। अंतत: प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय ने बात संभाली और आश्वस्त किया कि आगे से इसका ख्याल रखा जाएगा। बैठक में वे नेता भी शामिल हुए जो सोमवार को मुजफ्फरपुर में नरेन्द्र मोदी की सभा में नहीं गए थे।

पूर्व मंत्री गिरिराज सिंह के पुरजोर विरोध के बाद विधान परिषद उम्मीदवारों की सूची में से उनका नाम हटाया गया। बेगूसराय से बतौर लोकसभा उम्मीदवार अपनी दावेदारी जताते हुए उन्होंने कहा कि यदि उनको पार्टी का टिकट नहीं भी मिला तो भी वह एक कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहेंगे।

बैठक में डॉ. सीपी ठाकुर, चंद्रमोहन राय और अमरेंद्र प्रताप सिंह भी शामिल हुए। लोजपा से गठबंधन के मुद्दे पर ये नेता मुखर विरोध जता चुके हैं। जानकारी के मुताबिक श्री चौबे ने विरोध जताया कि विधान परिषद उम्मीदवारों के चयन में प्रदेश के प्रमुख नेताओं की राय नहीं ली जा रही है।

शुरू में पांच उम्मीदवारों (शिक्षक व स्नातक निर्वाचन क्षेत्र) के नामों पर निर्णय के वक्त ही तय हुआ था कि प्रदेश के लगभग डेढ़ दर्जन प्रमुख नेताओं से विमर्श के बाद ही किसी की पार्टी में ज्वायनिंग, गठबंधन या उम्मीदवारों के चयन पर निर्णय होगा।

फिर बाद में शिक्षक व स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के लिए तीन नामों की घोषणा किससे पूछकर हुई। उनका विरोध खासकर कोसी स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार डॉ. एनके यादव को लेकर था। भागलपुर से विधायक श्री चौबे के खिलाफ डॉ. यादव विस चुनाव भी लड़ चुके हैं।

उन्होंने कहा कि इनके चयन में अन्य प्रमुख नेताओं के साथ संवादहीनता की स्थिति क्यों रही। पार्टी में सिर्फ तीन नेताओं की मनमानी चल रही है। इसे वह बर्दाश्त नहीं करेंगे।

तीन सीटों के लिए पांच दर्जन दावेदार : विधानपरिषद की तीन सीटों के लिए भाजपा के पांच दर्जन से अधिक उम्मीदवारों ने दावेदारी ठोक दी है।

मंगलवार सुबह प्रदेश कार्यालय में हुई प्रमुख नेताओं की बैठक में दावेदारों की संख्या चौंकाने वाली रही। लगभग 60-65 दावेदारों के आवेदन और बायोडाटा लेकर भाजपा विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी, विधानसभा में विपक्ष के नेता नंदकिशोर यादव और प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय दोपहर बाद की फ्लाइट से दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

बुधवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह समेत अन्य केंद्रीय नेताओं के साथ इनकी बैठक होगी। उसी में तीन नामों पर अंतिम निर्णय होगा। बैठक में प्रदेश के कई नेता मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चौबे ने भाजपा नेतृत्व पर बोला हमला