DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार पर आरोप न लगाएं, अपने दामन में झांके: नीतीश

बिहार पर आरोप न लगाएं, अपने दामन में झांके: नीतीश

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। नरेंद्र मोदी द्वारा सोमवार को मुजफ्फरपुर की सभा में बिहार को आतंकियों का स्वर्ग बताने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को तल्ख टिप्पणी की। कहा कि कुछ लोग आतंकवाद को सांप्रदायिकता के चश्मे से देखते हैं। सांप्रदायिकता का जहर घोलना चाहते हैं और आतंकी घटनाओं का लाभ लेना चाहते हैं। बिहार के बारे में कल जो कुछ कहा गया उसे वह खारिज करते हैं।

एक घटना से बिहार को आतंकियों का स्वर्ग कहा जा रहा है, जबकि गुजरात में कितनी घटनाएं हुईं। आतंकी घटना तो देश के लिए चुनौती है। आतंकी घटना का फायदा तो उन्हीं को हुआ जो बिहार को आतंकियों का स्वर्ग बता रहे हैं। आतंकी घटना को रंग देना राजनीति के स्तर को गिराने जैसा है। नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा कि गोएबल्स के अनुयायी हैं वह। एक ही झूठ बार-बार दोहराते हैं। खुद पाखंड करते हैं और दूसरों पर आरोप लगाते हैं।

बिहार के लोग बांटने वाली ताकतों के साथ नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कभी-कभी लोगों की पीड़ा प्रकट हो जाती है। दरअसल भाजपा नेताओं को तीसरा मोर्चा यानी फेडरल फ्रंट की एकजुटता से खतरा दिखने लगा है। सिद्धांत से हम समझौता कर लें तो अच्छा और नहीं करें तो बुरा।

गलत आंकड़े पढ़े गएः मुख्यमंत्री ने कहा कि मुजफ्फरपुर में भाजपा के नेता ने गलत आंकड़े पढ़े। शौचालय निर्माण को ले उनकी सरकार इतनी गंभीर है कि बिहार पहला राज्य है, जहां लोहिया स्वच्छता अभियान शुरू किया गया।

यहां गरीखी रेखा से ऊपर जीवन बसर करने वाले परिवारों को भी शौचालय के लिए राशि दी गई। जहां तक गन्ना उद्योग का सवाल है, उनके कार्यकाल में इस उद्योग का विस्तार हुआ है। गुजरात में कहां है पिछड़े का वर्गीकरण भाजपा नेताओं द्वारा नरेंद्र मोदी को पिछड़ा बताए जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात में कहां है पिछड़ी जातियों का वर्गीकरण? भाजपा के लोग अपने नेता की जाति क्यों नहीं बताते? दरअसल उनकी दुर्गति होनी तय है। कह रहे हैं 40 सीट लेंगे। दस तो पहले ही आफलोड कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार पर आरोप न लगाएं, अपने दामन में झांके: नीतीश