DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोदामों से अवैध उगाही करने पर होगी कार्रवाई : आयुक्त

भागलपुर, वरीय संवाददाता। एसएफसी गोदाम में डीलरों से प्रति क्विंटल 25 से 30 रुपए अवैध उगाही की जाती है। अगर कोई रुपए देने से इनकार करता है तो उसे अनाज नहीं दिया जाता है। मंगलवार को आयुक्त मिन्हाज आलम की अध्यक्षता में आपूर्ति से जुड़े विभागों की बैठक में सदस्यों के उक्त आरोपों पर आयुक्त भी सन्न रह गए।

आयुक्त ने इसे गंभीरता से लेते हुए कहा कि हर हाल में गोदाम से अवैध उगाही पर रोक लगनी चाहिए। अगर फिर ऐसी शिकायत मिली तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बैठक में एसएफसी के प्रभारी एजीएम अवध किशोर मंडल के यहां ईओयू की छापेमारी का असर भी दिखा।

बैठक में बीपीएल और अन्त्योदय कार्डधारियों के खाद्यान्न वितरण की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान पाया गया कि कई प्रखंडों में दिसंबर महीने के अनाज की आपूर्ति नहीं की गई है। फरवरी में खाद्यान्न का वितरण नहीं हुआ।

वितरण नहीं होने के संबंध में एफसीआई और एसएफसी द्वारा गोल मटोल जानकारी दी गई। एफसीआई की तरफ से बताया गया कि उनके गोदाम में 15 हजार टन खाद्यान्न का स्टॉक है। उठाव नहीं होने के चलते खाद्यान्न का रैक नहीं मंगाया जा रहा है।

एसएफसी ने उठाव नहीं होने का ठीकरा ठेकेदार और मजदूरों पर फोड़ा। आयुक्त ने एफसीआई और एसएफसी को आपस में बैठकर समस्या का समाधान करने का निर्देश दिया। उन्होंने होली के पहले सभी डीलरों को कम से कम एक माह का खाद्यान्न देने को कहा।

आयुक्त ने कहा कि कूपन जमा नहीं करानेवालों की जांच कर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। आयुक्त ने बताया कि ऐसी शिकायतें मिल रही है कि अवैध वसूली कर मनमाने प्रखंडों को खाद्यान्न की आपूर्ति कर दी जाती है।

एसएफसी के जिला प्रबंधक को वितरण व्यवस्था में पारदर्शिता बरते और सभी प्रखंडों को एक समान खाद्यान्न का वितरण करने का निर्देश दिया गया है। एसएफसी में डीलरों से भंडार निर्गमा आदेश देने के एवज में रिश्वत मांगने की शिकायत मिल रही है।

जिला प्रबंधक से कहा गया है कि वह भंडार निर्गमा आदेश एसडीओ को दें। एसडीओ डीलरों को उपलब्ध करायेंगे। एसएफसी और एफसीआई से कहा गया है कि गोदाम में खाद्यान्न वजन करके दें। एफसीआई को कहा गया है कि बांका के खाद्यान्न के रैक को वहीं भेजा जाए।

भागलपुर से खाद्यान्न बेचने में परेशानी हो रही है। आयुक्त ने कहा कि गोदाम से खाद्यान्न अलीगंज सहित अन्य थोक विक्रेताओं के यहां बेचने की शिकायत मिल रही है। थोक विक्रेताओं को स्टॉक रजिस्टर में यह बताना होगा कि उनके स्टॉक में कौन और कितना अनाज, तेल, नमक, चीनी, दाल वगैरह है। इसे कहां से लाया गया है और रेट क्या है। एसडीओ स्टॉक की जांच करेंगे। एसडीओ को ग्रामीण क्षेत्र के डीलरों के यहां नियमित जांच करने का निर्देश दिया गया है ताकि उपभोक्ताओं को खाद्यान्न मिल सके।

31 मार्च को वरीय उपसमाहर्ता एसएफसी के स्टॉक का सत्यापन करेंगे। गोराडीह का खाद्यान्न सबौर और सन्हौला प्रखंड का खाद्यान्न कहलगांव से जाता है। एसएफसी को दोनों प्रखंड स्थित गोदाम से खाद्यान्न देने को कहा गया है। नवगछिया एजीएम को तत्काल प्रभार सौंपने को कहा गया है। ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई होगी। केरोसिन के थोक विक्रेताओं को एक माह के अंदर नोजल लगाने को कहा गया है। आयुक्त ने धान खरीदारी की समीक्षा की। बताया गया कि बांका में पिछले साल का 10 हजार टन धान रखा हुआ है।

इस पर सरकार से निर्देश मांगने को कहा गया है। बैठक में सदर एसडीओ सुनील कुमार, एसएफसी के जिला प्रबंधक उपेन्द्र प्रसाद, जिला आपूर्ति पदाधिकारी राम ईश्वर,एमओ कमल जायसलवाल के अलावा कहलगांव, नवगछिया और बांका से आपूर्ति विभाग से जुड़े अधिकारी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गोदामों से अवैध उगाही करने पर होगी कार्रवाई : आयुक्त