DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चौबे ने कभी चुनाव लड़ने की बात नहीं की :

कार्यालय संवाददाता भागलपुर। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने इस बात से इंकार किया है कि बिहार के कुछ नेताओं ने टिकट को लेकर नाराजगी के कारण विरोधी रुख अख्तियार कर लिया है। भागलपुर के विधायक अश्विनी चौबे की बेरुखी पर उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात है। इसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं।

भागलपुर से चौबे के चुनाव लड़ने की इच्छा पर उन्होंने कहा कि वह केन्द्रीय चुनाव समिति में बिहार-झारखंड क्षेत्र के एकमात्र सदस्य हैं। अश्विनी चौबे ने इस बारे में उनसे कभी कोई बात नहीं की। शाहनवाज मंगलवार को भागलपुर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

इतने दिनों के कार्यकाल में भागलपुर में चौबे और शाहनवाज आसपास भी बैठे नहीं दिखे। लेकिन मंगलवार को सांसद एमएलसी प्रत्याशी डा. एनके यादव के साथ प्रेस कांफ्रेस में आए। डा. यादव के पार्टी में शामिल किए जाने को लेकर भी कुछ दिन पहले चौबे ने नाराजगी व्यक्त की थी।

शाहनवाज ने कहा कि डा. यादव को पार्टी नेतृत्व ने खुद भाजपा से जुड़ने को कहा था। स्थानीय सांसद होने के नाते वह उनका स्वागत करते हैं और भारी मतों से उनके जीत की उम्मीद करते हैं।

डा. यादव के पार्टी में आने के बाद स्थानीय विधायक की नाराजगी और उनकी टिप्पणी की बाबत शाहनवाज ने कहा कि पार्टी ने डा. यादव पर वशि्वास व्यक्त किया है और पार्टी के हर कार्यकर्ता उन्हें चुनाव में विजयी बनाने के लिए मेहनत करेंगे।

चौबे द्वारा लोकसभा चुनाव में कशिनगंज से चुनाव लड़ने की बात कहे जाने पर उन्होंने कहा कि टिकट केन्द्रीय चुनाव समिति तय करती है। यह अलग बात है कि वह भी उस समिति के सदस्य हैं लेकिन जब उनके नाम पर चर्चा होती है वह खुद बाहर निकल जाते हैं। ताकि पार्टी निष्पक्ष भाव से फैसला ले। नरेन्द्र मोदी की रैली में नहीं जाने वाले पार्टी के कुछ नेताओं के बारे में टिकट नहीं मिलने के कारण नाराजगी पर राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि ऐसी कहीं कोई बात नहीं है।

हर जगह हर विधायक और सांसद नहीं पहुंचते। शाहनवाज ने इस बात का सीधा जवाब नहीं दिया कि लोकसभा चुनाव में स्थानीय विधायक चौबे उनका प्रचार करेंगे या नहीं। जब उनसे यह पूछा गया कि नवगछिया के वशि्वासघात रैली में चौबे नहीं गए, पटना के हुंकार रैली में उनकी तबियत खराब थी और अंतिम समय में पहुंचे और मुजफ्फरपुर की रैली से पहले फिर उनकी तबियत खराब हो गई। क्या इसके पीछे कोई राजनीतिक वजह है? इस सवाल पर सांसद ने कहा कि किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है।

यह सब ईश्वर के हाथ में है। चौबे जी का विरोध समझ से परे : डॉ. यादव कार्यालय संवाददाता भागलपुर। कोसी स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी डा. एनके यादव ने कहा कि उन्हें अखबारों से स्थानीय विधायक अश्विनी चौबे की टिप्पणी पढ़ने को मिली। उन्हें यह बात समझ से परे लग रही है कि आखिर चौबे जी मेरा विरोध क्यों करेंगे। उन्होंने कहा कि विधानसभा में चुनाव में वह उनके खिलाफ चुनाव लड़े थे लेकिन वह अपनी दल के प्रत्याशी के रूप में लड़ रहे थे।

इसमें कोई नाराजगी की बात नहीं हो सकती। उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में भाजपा को बेहतर संगठन बताते हुए कहा कि यह पार्टी सामाजिक क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों का भी ध्यान रखती है। हालांकि सिम्बल लेने के लिए जब उन्हें प्रदेश के नेताओं ने फोन किया तो वह कुछ सशंकित थे। लेकिन पार्टी की यह महानता है कि उन्हें घर पर पत्र भेजवाया। डा. यादव के नामांकन में उनकी धर्मपत्नी और राजद की नेत्री डा. वीणा यादव नहीं गई थीं।

इस सवाल पर डा. यादव ने कहा कि वह राजद में हैं और दलीय अनुशासन के कारण यह ठीक नहीं था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चौबे ने कभी चुनाव लड़ने की बात नहीं की :