DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चांदनी चौक से लालकिला के बीच फिर लौट आएगी ट्राम

 नई दिल्ली, वरिष्ठ संवाददाता।  चांदनी चौक की सड़क पर पुरानी ट्रांम का सफर फिर लौटकर आएगा। यह सफर 1.3 किलोमीटर का होगा और फतेहपुरी मस्जिद से जैन मंदिर के बीच होगा। पुरानी दिल्ली सबसे घनी आबादी वाला इलाका है और यहां 60 के दशक तक ट्राम गाडिम्यां दौड़ती रही है। इसके प्रमाण आज भी पुरानी दिल्ली में मौजूद हैं। पुरानी दिल्ली की शान शौकत के साथ ट्रांम लौटाने की तैयरियां चल रही है।

उपराज्यपाल नजीब जंग ने ट्रांम चलाने के लिए इच्छा जाहिर की है। अब लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ट्रांम चलाने के लिए फिजबििलटी जांच शुरू करेगा। यह जांच उपराज्यपाल की औपचारिक मंजूरी के बाद शुरू की गई है। सूत्र बताते हैं कि फिजबििलटी रिपोर्ट के आधार पर जब ट्राम चलाने की सहमति बन जाती है तो इस मार्ग सामान्य गाड़ियों को बंद कर दिया जाएगा। इस मार्ग पर करीब 15 मीटर का एक कैरिज वे होगा जिसका प्रयोग पैदल यात्री कर सकेंगे।

बताया जा रहा है कि रिपोर्ट में यह भी जांचा जाएगा कि कहां पर इन गाड़ियों के लिए डिपो उपलब्ध हो सकेंगे। पूरा मसौदा तैयार होने के बाद अदालत व यूटीपैक की मंजूरी ली जाएगी। इस प्लान के पहले चरण में पीडब्ल्यूडी ने काम शुरू कर दिया है। इसके तहत चांदनी चौक को दो चरणों में चमकाया जाना है। बताया जा रहा है कि विभाग ने इस प्रोजेक्ट की तकनीकी बारिकियों से अवगत कराया है। इस मार्ग पर काम करने के लिए यहां पर आने वाले लोगों के लिए वैकल्पिक मार्ग भी उपलब्ध कराए जाएंगे।

कैसे उठा मामलाचांदनी चौक एक ऐतिहासिक क्षेत्र है। इस क्षेत्र में 60 के दशक तक ट्राम गाड़ी चलाई गई है। मामले को संज्ञान में लेते हुए उपराज्यपाल ने इस क्षेत्र की ऐतिहासिक बनाए रखने और ट्रांम को वापस लाए जाने के प्रोजेक्ट पर काम करने के लिए कहा था। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया था और इस कमेटी ने मामले से संबंधित लोगों की राय ली थी। इसी आदेश पर लोक निर्माण विभाग ने रिपोर्ट तैयार की है।

इस रिपोर्ट को लागू करने से पहले अदालत व यूटीपैक की स्वीकृति जरूरी होगी। पहले चरण में क्या है योजनाचांदनी चौक को चमकाने के लिए 40 करोड़ की धनराशि मंजूरी की जा चुकी है। इस के तहत पहले चरण काम शुरू कर दिया गया है और 20 जगहों पर बिजली, पानी, टेलोफोन समेत अन्य सेवाओं की लाइनों को अंडर ग्राउंड करने पर काम शुरू किया गया है। इस जगहों पर खुदाई करके यह जांच की गई है कि यहां काम किस प्रकार और कितने चरण में पूरा किया जा सकता है।

इसके लिए ड्राइंग बनाने का कार्य किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को यूटीपैक से मंजूरी दी जा चुकी है। इसकी विस्तृत रिपोट एमसीडी ने तैयार की थी और फरवरी 2013 में इस प्रोजेक्ट को लोक निर्माण विभाग को सौंपा गया था। दिल्ली में क्या है ट्रांम का इतहिासदिल्ली में 1963 तक ट्राम गाडिम्यां पुराने शहर चांदनी चौक की शान रही हैं। इससे 6 मार्च 1908 में लॉर्ड हार्डिग ने ट्राम शुरू की थी। पहले यह सड़क के बीच में चलती थी और इस बार योजना बनाई जा रही है कि इसे फुटपाथ के साथ - साथ चलाया जाएगा।

ं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चांदनी चौक से लालकिला के बीच फिर लौट आएगी ट्राम