DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैमिली पेंशन होगी एनडी की विरासत

देहरादून। संजीव कंडवाल।  नब्बे के पड़ाव पर पहुंच आधिकारिक रूप से पारविारिक व्यक्ति घोषित हुए दिग्गज कांग्रेस नेता एनडी तिवारी की विरासत को लेकर अब बातें होने लगी हैं। खुद की निजी संपत्ति शून्य बताने वाले तिवारी इस समय तीन जगह से पेंशनर हैं, इसलिए रोहित की मां उज्ज्वला तिवारी की फेमिली पेंशन की हकदार हो सकती हैं।

एनडी तिवारी की राजनीतिक ऊंचाई का पता उनकी पेंशन से भी चलता है। तिवारी इस समय पूर्व विधायक, पूर्व सांसद और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के नाते पेंशनर हैं। पूर्व विधायक के नाते उनकी प्रतिमाह कुल पेंशन 39, 000 बैठती है, जिसे वो देहरादून कोषागार के मार्फत प्राप्त करते हैं। चूंकि वो स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में 15 माह से अधिक जेल में रहे हैं इस नाते तिवारी केंद्र से 17 हजार रुपये प्रतिमाह और राज्य सरकार से 11 हजार रुपये प्रतिमाह अलग-अलग राजनीतिक पेंशन के हकदार हैं (हालांकि यह तथ्य सामने नहीं आ पाया कि वो दोनों जगह से पेंशन लेते हैं या नहीं)।

इसके अलावा तिवारी पूर्व लोकसभा सांसद होने के नाते भी पेंशन के पात्र हैं। चूंकि वो एक से अधिक बार सांसद रहे हैं इसलिए बतौर पूर्व सांसद उनकी पेंशन भी करीब 40 हजार बैठती है। जानकारों का मानना है कि चूंकि रोहित को तिवारी वारिस घोषित कर चुके हैं, इसलिए रोहित की मां तिवारी की फेमिली पेंशन पर दावा कर सकती हैं। हालांकि इसके लिए तिवारी को खुद सभी विभागों के दस्तावेज में उज्ज्वला को बतौर पत्नी शामिल करना होगा।

साथ ही उज्ज्वला से शादी के दस्तावेज भी अपने दावे के समर्थन में पेश करने होंगे। रोहित बालिग होने के नाते अब फेमिली पेंशन का लाभ नहीं ले पाएंगे। विकीपीडिया ने जोड़ा परिवार पिता-पुत्र मिलन के नाटकीय घटनाक्रम के चंद घंटे के अंदर ही विकीपीडिया ने तिवारी के प्रोफाइल में रोहित शेखर का नाम जोड़ दिया है। उनके पुत्र की जगह रोहित शेखर लिखा गया है हालांकि साथ में डीएनए प्रमाणित की वशििष्ट टिप्पणी भी की गई है। जबकि पत्नी का नाम सुशीला सनवाल लिखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फैमिली पेंशन होगी एनडी की विरासत