DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेताजी को देना होगा सोशल साइट के एकाउंट का ब्योरा

 इलाहाबाद वरिष्ठ संवाददाता। फेसबुक, वाट्सअप, टय़ूटर और यू-टयूब पर वोटरों को लुभाने में जुटे लोकसभा प्रत्याशियों की हर पोस्ट पर चुनाव आयोग की पैनी नजर है। इस बार प्रत्याशियोंे को पर्चा दाखिल करते समय शपथ पत्र के साथ सोशल नेटवर्क साइट के अपने एकाउंट का ब्योरा भी देना होगा।

निर्वाचन आयोग ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को पत्र भेज कर सोशल मीडिया पर नजर रखने की हिदायत दी है। पत्र में कहा गया है कि सोशल मीडिया भी प्रचार-प्रसार का बड़ा माध्यम बन चुका है। वक्त की नजाकत को भांपते हुए कई लोकसभा प्रत्याशियों ने सोशल मीडिया को ही अपना प्रमुख चुनावी हथियार बना लिया है। प्रत्याशी रोजना दर्जनों पोस्ट कर फॉलोवरों से रायशुमारी भी कर रहे हैं। जो नेता व्यस्तता के कारण अपने एकाउंट को संचालित नहीं कर पाते उन्होंने इसके संचालन का जिम्मा अपने करीबियों को सौंप रखा है।

कुछ नेताओं की फेक आईडी से दुष्प्रचार के मामले भी प्रकाश में आ चुके हैं। सोशल साइट पर नेताओं की बढ़ती सक्रियता के मद्देनजर ही निर्वाचन आयोग ने यह फैसला लिया है। निर्वाचन आयोग भी इस बार सोशल मीडिया को तवज्जो दे रहा है। अब अधिकारियों को भी फेसबुक, टय़ूटर, यू-टय़ूब व विकीपीडिया जैसी साइटों को खंगालना पड़ेगा। उम्मीदवारों को भी सूचित करना होगा कि उनकी साइट्स कौन सी है। प्रत्याशियों को अपने साइट का सही एकाउंट नंबर भी निर्वाचन दफ्तर में दर्ज कराना होगा।

आयोग ने यह भी कहा कि आचार संहिता व मतदाता सूची से संबंधित आवश्यक जानकारियां भी सोशल मीडिया पर डाल दी जाएं। जिससे लोगों को वोटर फार्म भरने के साथ अन्य जानकारियां भी हो जाएंगी। जिला निर्वाचन अधिकारी पी. गुरुप्रसाद ने आचार संहिता व जानकारियां सोशल मीडिया पर डालने की जिम्मेदारी उप सूचना निदेशक आरपी द्वविेदी को सौंप दिया है। सोशल साइट पर नजर कौन रखेगा। यह जिम्मेदारी अभी किसी अधिकारी को नहीं सौंपी गई है। नामांकन पत्र के इस बार ये वविरण भी देने होंगे- सोशल मीडिया पर कितने एकाउंट हैं।

- ई-मेल आई अगर है तो, अगर नहीं है तो इसका भी शपथ पत्र देना होगा। - प्रत्याशी के सभी मोबाइल व टेलीफोन नंबर। सोशल मीडिया पर जिले के इन नेताओं के एकाउंट उदयभान करवरिया-भाजपा केशरीनाथ त्रिपाठी- भाजपासिद्धार्थ नाथ सिंह-भाजपा कुंवर रेवती रमण सिंह -सपाधर्मराज पटेल-सपाहर्षवर्धन बाजपेई-सपासत्यवीर मुन्ना-सपानंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’-बसपाअभय अवस्थी-कांग्रेस (नोट-इन नेताओं के साथ ही सभी पार्टियों के कई अन्य पदाधिकारी के एकाउंट भी सोशल साइट्स पर हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेताजी को देना होगा सोशल साइट के एकाउंट का ब्योरा