DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्यमंत्री के समक्ष गूंजेगा छात्रवृत्ति का मामला

  अलीगढ़। छात्रवृित्त न मिलने से छात्रों की पढ़ाई बर्बाद हो रही है। दो साल सेजिंले के 26 हजार से अधिक छात्र दर-दर भटक रहे हैं। जिंनमें से दर्जनों छात्र-छात्राएं पढ़ाई छोड़ चुके हैं। लगातार शिकायत करने के बाद भी छात्रों की कोई सुनवाई नहीं हुई। इसको लेकर रालोद विधान मंडल दल के नेता मुख्यमंत्री से शिकायत करेंगे। सुदामापुरी निवासी िनशा ने इंजीिनयिरंग कालेज में प्रवेश तो ले लिया, लेकिन छात्रवृित्त न मिलने के कारण फीस जमा न हो सकी।

िनशा ने छात्रवृित के लिए महीनों अधिकारियों से गुहार लगाई, लेकिन नतीजा शून्य रहा। फीस जमा न होने परे िनशा को स्कूल से िनकाल दिया गया,जिंसके इंजीिनयर बनने के सपने टूट गए। ऐसी अकेली िनशा ही नहींजिंलेभर में दर्जनों छात्रों की पढ़ाई बर्बाद हो चुकी है। उनके इंजीिनयर, डाक्टर व अध्यापक बनने के सपने चूरचूर हो गए। साल 2012-13 मेंजिंले के 48 हजार छात्रों को छात्रवृित्त दी जानी थी। जिंनके लिए शासन से 59 करोड़ की धनराशि आनी थी। धनराशि कम आने के कारण 22 हजार छात्रों को छात्रवृित मिल सकी।

26 हजार छात्र विंचत रह गए। छात्र दो साल से अधिकारियों से गुहार लगा रहे हैं। लगातार शिकायत करने के बाद भी छात्रों को लाभ नहीं मिल रहा है। विधान सभा में गूंजेगा मामलारालोद विधान मंडल दल नेता के सचिव सुशाील गुप्ता ने बताया किजिंले में छात्रवृित्त को लेकर छात्र परेशान हैं। अधिकारी छात्रों की कोई सुनवाई नहीं कर रहे हैं। छात्र काफी परेशान हो रहे हैं। दर्जनों छात्र पढ़ाई छोड़ चुके हैं। जिंसको लेकर रालोद विधायक दलवीर सिंह शीघ्र ही विधानसभा में मुख्यमंत्री के समक्ष छात्रवृित्त के मामले को रखेंगे।

उन्होने बतया किजिंन छात्रों ने छात्रवृित्त न मिलने से पढ़ाई छोड़ चुके हैं, उनकी भी व्यवस्था कराने की मांग रखी जाएगी। कई बार विकास भवन में हो चुका है हंगामाछात्र कई बार विकास भवन में छात्रवृित्त को लेकर हंगामा काट चुके हैं। छात्रों का कहना है कि लगातार शिकायत के बाद भी विकास भवन में बैठे अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हैं। छात्रवृित्त न मिलने वाले कालेजों में विवेकानंद कालेज, शिवदान सिंह इंस्टीटय़ूट, गगन कालेज, राधा गोविंद महाविद्यालय, पीएम कालेज ऑफ एजुकेशन, खर कन्या इंटर कालेज, एसवी कालेज आदि दर्जनों इंजीिनयिरंग कालेज के छात्र शामिल हैं।

जिंसको लेकर कालेज प्रबंधक भी परेशान हैं। वर्जनजो धनराशि शासन से मिली थी उसे बांट दिया गया है। शेष धनराशि मिलते ही छात्रवृित्त बांट दी जाएगी। शासन को िलिखत में अवगत करा दिया गया है। धनराशि शीघ्र मिलने की संभावना है। -भगवान सिंह,जिंला समाज कल्याण अधिकारी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुख्यमंत्री के समक्ष गूंजेगा छात्रवृत्ति का मामला