DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब एक और प्रकाशक की किताब विवादों के घेरे में

अब एक और प्रकाशक की किताब विवादों के घेरे में

शिक्षा बचाओ आन्दोलन समिति के राष्ट्रीय संयोजक दीनानाथ बत्रा ने अमेरिकी लेखिका वेंडी डोनिगर की विवादास्पद पुस्तक ऑन हिन्दुज्म के प्रकाशक एल्फ बुक कंपनी को पुस्तक वापस लेने के लिए चेतावनी पत्र लिखा है।

उन्होंने कहा कि अगर प्रकाशक 10 मार्च तक पुस्तक को वापस लेने का फैसला नहीं करते हैं, तो इसके खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया जाएगा। उन्होंने प्रकाशक से सभी बिक्री केन्द्रों से पुस्तक वापस मंगाकर इसकी प्रतियां नष्ट करने, पुस्तक की बिक्री बन्द करने और पुस्तक फिर से प्रकाशित न करने का वादा करने की मांग की है।

शिक्षा बचाओ आन्दोलन समिति के अनुसार किताब में कमोबेश वही विषयवस्तु है जो पेंगुइन द्वारा प्रकाशित डोनिगर की पुस्तक द हिंदूजः एन अल्टरनेटिव हिस्ट्री में थी। केवल शीर्षक और कवर पेज बदला गया है।

उल्लेखनीय है कि शिक्षा बचाओ आंदोलन ने द हिंदूज: एन अल्टरनेटिव हिस्ट्री पर हिन्दू भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाते हुए 2011 में अदालत का दरवाजा खटखटाया था। पेंगुइन ने पिछले महीने की शुरुआत में इस संस्था के साथ अदालत के बाहर समझौता कर लिया था।

समझौते के मुताबिक पेंगुइन इंडिया इस किताब को वापस लेने और उसकी बाकी बची प्रतियों को नष्ट करने पर सहमत हो गई थी। पेंगुइन ने तब कहा था कि वह भारतीय कानून का सम्मान करते हुए यह कदम उठा रहा है। भारतीय कानून में बोलकर या लिखकर किसी की धर्मिक भावना को ठेस पहुचाना अपराध है।

वेंडी डोनिगर ने किताब वापस लिए जाने पर निराशा जताई थी। पेंगुइन के इस फैसले की कड़ी आलोचना हुई थी। कई लोगों का कहना था कि यह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर कुठाराघात है। कई लोगों ने साथ ही यह भी सवाल उठाया कि पेंगुइन जैसी बड़ी कंपनी ने कैसे एक अंजान संस्था के आगे हथियार डाल दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब एक और प्रकाशक की किताब विवादों के घेरे में