DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमानत के बाद भी जूनियर डांक्टर नहीं आये जेल से बाहर

समाजवादी पार्टी विधायक, पुलिस और जूनियर डांक्टरों के बीच संघर्ष के बाद गिरफ्तार कर जेल भेजे गये 24 छात्रों को सोमवार शाम ही अदालत से जमानत मिल गयी थी लेकिन वह गिरफ्तार जूनियर डांक्टर जमानत के बाद आज दोपहर तक जेल से बाहर नहीं आये।

यह डांक्टर इस बात पर अड़े है कि जब तक उनके खिलाफ लगाये गये आपराधिक मुकदमें वापस नहीं होते हैं और पुलिस के एसएसपी को बर्खास्त नही किया जाता है तथा सपा विधायक के खिलाफ कार्रवाई नही की जाती है, वह जमानत होने के बाद भी जेल से बाहर नही आयेंगे।

उधर, मेडिकल कालेज समेत सभी प्राइवेट मेडिकल कालेजों में जूनियर डांक्टरों की हड़ताल आज पांचवें दिन भी लगातर जारी रही। लखनऊ से प्राप्त खबरों के अनुसार केजीएमसी मेडिकल कालेज लखनऊ और प्रदेश के एक मात्र सुपर स्पेशलियटी हास्पिटल संजय गांधी पीजीआई के डांक्टर भी कानपुर के जूनियर डांक्टरों के समर्थन पर हड़ताल पर चले गये हैं।

जूनियर डांक्टरों और मेडिकल टीचरों का कहना है कि जब तक सभी गिरफ्तार छात्रों के खिलाफ मुकदमें वापस नहीं होते हैं, छात्रों पर लाठीचार्ज करने वाले एसएसपी यशस्वी यादव के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर उन्हें बर्खास्त नहीं किया जाता है तथा सपा विधायक इरफान सोलंकी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं होता है, वह हड़ताल वापस नही लेंगे चाहे उनके खिलाफ कोई भी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायें। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश के सभी मेडिकल कालेज के डांक्टर हड़ताल पर है।

एडीएम सिटी अविनाश सिंह ने बताया कि कल शाम को ही गिरफ्तार सभी जूनियर डांक्टरों की अदालत से जमानत हो गयी थी और उनकी रिहाई का परवाना जेल भेज दिया गया था लेकिन उसके बाद भी जूनियर डांक्टर जेल से बाहर आने को तैयार नहीं हैं। आज फिर जिला प्रशासन कोशिश कर रहा है कि जूनियर डांक्टर रिहाई करवा लें।

उधर गणेश शंकर मेडिकल कालेज की मेडिसिन विभाग की प्रमुख डां आरती लाल चंदानी और जूनियर डांक्टर ऐसोसिएशन के डां एन के सिंह ने कहा कि जब तक जूनियर डांक्टरों के खिलाफ लगे संगीन आपराधिक मामले हटाये नहीं जाते हैं यह हड़ताल जारी रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जमानत के बाद भी जूनियर डांक्टर नहीं आये बाहर