DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘मुझे रोकने के लिए सभी दल एक’

‘मुझे रोकने के लिए सभी दल एक’

नरेंद्र मोदी ने तीसरे मोर्चे पर साधा निशाना, कहा-चुनाव के समय जागने वालों ने नहीं पूरा किया वादा
भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार एवं गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि उन्हें रोकने के लिए सारे दल एक हो गए हैं। सोमवार को मुजफ्फरपुर-दरभंगा फोर लेन के किनारे पटियासा मैदान में हुंकार रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज देश की राजनीति दोराहे पर खड़ी है।

मैं देश की समस्याओं का हल ढूंढ़ रहा हूं, और विरोधी मोदी का हल ढूंढ़ रहे हैं। मोदी कहता है महंगाई रोको, वे कहते हैं मोदी रोको। मोदी कहता है भ्रष्टाचार रोको, वे कहते हैं मोदी रोको। मोदी कहता है कि देश का विकास करना है, वे कहते हैं मोदी का विनाश करना है। अब निर्णय देश की जनता को करना है। खुदीराम बोस की शहादत भूमि की मिट्टी का सौगंध खाते हुए मोदी ने कहा कि भारत माता का शीष नहीं झुकने देंगे, देश नहीं लूटने देंगे।

इससे पहले मोदी ने भोजपुरी पुट लिए बज्जिका भाषा में अपने भाषण की शुरुआत की। मोदी ने कहा कि एनडीए का तेजी से विस्तार हो रहा है और यह बढ़ता ही जाएगा। जो विरोधी भाजपा को बनिया-ब्राह्मण की पार्टी कहते थे, आज एक पिछड़े को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर हमारा दायरा बढ़ते देखकर चौंक गए हैं। हिन्दुस्तान में आने वाला समय गरीबों, शोषितों, पीडितों और वंचितों का होगा। तीसरे मोर्चे पर निशाना साधते हुए नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सिर्फ चुनाव के समय जागने वाले दलों ने कभी गरीबों से किए गए वादों को निभाया? चुनाव के बाद वे 5 वर्षो तक सोए रहते हैं। ये चुनावी खिलाड़ी कभी कांग्रेस के लालच में फंसकर तो कभी सीबीआई के डर से कांग्रेस के प्रति नरम पड़ जाते हैं।

मोदी ने कहा कि यह हुंकार रैली देश में बदलाव की आकांक्षाओं को लेकर आयी है। गुजरात के मुख्यमंत्री ने किसी नेता का नाम लिए बगैर जमकर प्रहार किया। मोदी ने कहा कि उनसे कहीं भी मिलना हुआ मुझसे प्यार से मिले। जब सार्वजनिक स्थल पर फोटो लेने की बात आयी तो डर गए। सार्वजनिक रूप से हाथ मिलाते समय पसीना छूटने लगता है।

मोदी के बोल
अटल बिहारी वाजपेयी ने मैथिली भाषा को दी खास पहचान
मुजफ्फरपुर के पूर्व सांसद जॉर्ज फर्नाडिस के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की
नरेंद्र मोदी ने तीन बार वाजपेयी का नाम लिया, लेकिन आडवाणी को भूल गए
भाषण के क्रम में प्रथम राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद का भी लिया नाम
बिहार के किसानों ने सरदार पटेल की प्रतिमा के लिए काफी लोहा भेजा
नेपाल की सीमा संकट का बड़ा कारण है

गिरिराज सिंह, चौबे और ठाकुर नहीं गए रैली में
पटना। नरेंद्र मोदी की मुजफ्फरपुर रैली में आधा दर्जन प्रमुख नेताओं की गैरमौजूदगी प्रदेश भाजपा में चर्चा का विषय रही। इनमें दो नेता डॉं. सीपी ठाकुर और पूर्व मंत्री गिरिराज सिंह ने पटना एयरपोर्ट पर जाकर मोदी की आगवानी तो की मगर मुजफ्फरपुर नहीं गए। पूर्व मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, सांसद कीर्ति आजाद, शत्रुघ्न सिन्हा और हुकुमदेव नारायण यादव रैली में नहीं शामिल हुए। पत्रकारों से बातचीत में गिरिराज सिंह ने कहा कि वह पारिवारिक कारणों से नहीं जा सके।

बिहार में होली बाद दो रैलियां
पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि होली के बाद दो रैलियों में आने पर नरेंद्र मोदी तैयार हो गए हैं। इनमें एक कोसी के मधेपुरा में 24 मार्च को होगी, जबकि दूसरी रैली मध्य बिहार में होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘मुझे रोकने के लिए सभी दल एक’