DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो मिनट में हीरो बन गए कावेची

यूरो कप 2008 में रविवार रात को ग्रुप ए के मैच में तुर्की और चेक गणराज्य के बीच खेले गए जबर्दस्त मुकाबले में तुर्की ने चेक को अंतिम क्षणों में किए गए गोल की बदौलत 3-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में स्थान पक्का कर लिया। हालांकि इस मुकाबले के शुरू से ही चेक गणराज्य ने तुर्की पर दबदबा बनाए रखा लेकिन दुनिया के शीर्ष गोलकीपरों में शामिल चेक गणराज्य के पीटर चेक की गलतियों ने तुर्की को मैच में जीत दिला दी। तुर्की की टीम 62वें मिनट तक 0-2 से पीछे चल रही थी और उसकी वापसी काफी कठिन लग रही थी। हाफ टाइम तक चेक गणराज्य 1-0 से आगे चल रहा था। चेक गणराज्य के खिलाड़ियों ने शुरू से विपक्षी खेमे में हमलावर रुख अपना रखा था और शीघ्र ही उसे इसका फायदा मिल गया जब 34वें मिनट में जान कोलेर ने एक शानदार मैदानी गोलकर टीम को बढत दिला दी। कोलेर का 0 मैचों में यह 55वां गोल था। इसके बाद करीब 28 मिनट तक चेक ने गोल करने के कई और मौके गवाएं लेकिन आखिरकार 62वें मिनट में जार्सलोव प्लेसिल ने एक और गोलकर टीम की बढ़त 2-0 कर दी। लेकिन इसके बाद ही मैच का पासा पलट गया। 75वें मिनट में अरदा तुरान ने एक शानदार मैदानी गोलकर टीम का खाता खोला। कुछ देर बाद निहत कावेची के नेतृत्व में तुर्की ने चेक खेमे में ताबड़तोड़ हमले बोलने शुरू कर दिए। खेल समाप्त होने के कुछ देर पहले 87वें मिनट में कावेची ने विपक्षी गोलकीपर पीटर की गलती का फायदा उठाते हुए खाली नेट में गेंद डाल दी और टीम को 2-2 की बराबरी पर पहुंचा दिया। दो मिनट बाद ही 8वें मिनट में एक बार फिर कावेची को मौका मिला और उन्होंने 25 मीटर की दूरी से शानदार गोल कर टीम की जीत सुनिश्चित कर दी। जीत के बाद तुर्की के कोच फतेह तरीम ने कहा, ‘मैं अपनी टीम को बधाई देता हूं। एक बार फिर यहां बारिश हो रही थी और एक बार फिर हम जीते। मैं अपनी जीत की खुशी तुर्की भी पहुंचा रहा हूं। अब इस जीत का जश्न मनाया जाए। हम भी मनाएंगे।’ड्ढr दूसरी तरफ अंतिम मिनटों में मिली इस हार से स्तब्ध नजर आ रहे चेक गणराज्य के कोच कार्ल ब्रूकनर ने कहा, ‘इस तरह का मैच हारना वाकई निराशा पैदा करता है और वह भी तब जब मैच खत्म होने में केवल चार मिनट बचे हों। उन्होंने कहा अंतिम तीन मिनट में दो गोल खाना अविश्वसीनय था।’ड्ढr उन्होंने कहा, ‘आप इस तरह के मैच में ये गलतियां नहीं कर सकते हैं। हमने दूसरे और तीसरे गोल के दौरान गलतियां कीं और हम उसे बचा नहीं पाए। आप इस तरह नहीं खेल सकते। अंत में हमने तुर्की के सामने समर्पण कर दिया।’ड्ढr उधर, ‘इस जीत के साथ ही तुर्की छह अंकों के साथ ग्रुप ए में चेक गणराज्य से तीन अंक ऊपर दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। इस ग्रुप से पुर्तगाल भी क्वार्टर फाइनल में पहुंच चुका है। इस हार के साथ ही चेक गणराज्य टूर्नामेंट से बाहर हो गया जबकि सह-मेजबान स्विट्जरलैंड की भी विदाई हो गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो मिनट में हीरो बन गए कावेची