DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोस्ट वांटेड विकास के तीन साथी दबोचे गए

प्रतापगढ़। हिन्दुस्तान संवाद। आसपुर देवसरा पुलिस ने जूबाए अध्यक्ष हत्याकांड के मोस्ट वाटेंड आरोपी विकास के तीन साथियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि तीनो लोक निर्माण विभाग के कर्मचारी की हत्या के इरादे से घात लगाए थे। पुलिस ने उनके कब्जे से दो पिस्तौल और एक लाइसेंसी बंदूक बरामद की है। पुलिस तीनो से विकास के बारे में पूछताछ कर रही है। पुलिस की माने तो इसमें से एक शूटर राजदत्त हत्याकांड से भी जुड़ा है।

पुलिस का कहना है कि नगर कोतवाली के भदोही गांव निवासी करुणेश प्रताप सिंह को सोमवार को आसपुर देवसरा जाना था। उन्होंने पुलिस को खबर की कि उनकी हत्या के इरादे से कुछ लोग आसपुर देवसरा में मौजूद हैं। पुलिस का दावा है कि सूचना की जांच करने के बाद आसपुर देवसरा से सोमवार को भदोही गांव निवासी राजेश प्रताप सिंह, मनोज उर्फ मुन्ना, अरविंद कुमार को गिरफ्तार किया गया। राजेश और मनोज के पास से .32 बोर की पिस्तौल और अरविंद से दूसरे के नाम की लाइसेंसी बंदूक मिली।

पुलिस का कहना है कि तीनों के खिलाफ कई संगीन मामले दर्ज हैं। तीनों राजदत्त हत्याकांड के वांछित गोड़े गांव निवासी विकास के साथी शूटर हैं। पुलिस की माने तो राजेश राजदत्त हत्याकांड में भी शामिल था। पुलिस का दावा है कि राजेश ने पूछताछ में इस हाईप्रोफाइल हत्याकांड के बारे में अहम जानकारी दी है। खबर-अमरेश मिश्र।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोस्ट वांटेड विकास के तीन साथी दबोचे गए