DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रात्रि डीजे बजने से बोर्ड परीक्षार्थी हुए परेशान

नानौता। हमारे संवाददाता बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक ऊंची आवाज में लाउडस्पीकर/डीजे तथा अन्य यंत्र बजाने पर प्रतबिंध लगाने के अभी तक कोई आदेश जारी नहीं होने के चलते पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। छात्र-छात्राओं व अभिभावकों ने जिला प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है। इस बार जिला प्रशासन की ओर से बोर्ड परीक्षाओं के चलते रात्रि में होने वाले शोरगुल को प्रतबिंधित करने के लिए कोई आदेश जारी न होने से बोर्ड परीक्षार्थियों को सबसे अधिक परेशानी उठानी पड़ रही है।

सीबीएसई व यूपी बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो चुकी हैं। उधर वविाह-शादियों का सीजन भी जोरों पर चल रहा है। परीक्षार्थी कल्पना, युक्ति, शिल्पा, हेमंत, सत्यम, शैलेजा, हनी, मनन चावला आदि का कहना है कि रात्रि के दौरान होने वाले भीषण शोरशराबे के चलते उनकी पढ़ाई की एकाग्रता भंग होती है। इससे पढ़ाई नहीं हो पाती है। वहीं अभिभावक मतीन अहमद, कामसिंह, बालकशिन, संजय, शविकुमार, श्यामसिंह, अशोक, आदि का कहना है कि परीक्षार्थी बच्चों के हित में जिला प्रशासन को रात्रि में होने वाले शोर शराबे पर प्रतबिंध लगाना चाहिए।

रामपुर मनहिारान एसडीएम ने कहा कि अभी तक जिला प्रशासन की ओर से इस संबंध में उनके पास कोई आदेश नहीं पहुंचे हैं, लेकिन सर्वोच्च न्यायालय ने तेज आवाज पर पहले से ही प्रतबिंध लगा रखा है। बावजूद कोई व्यक्ति या संस्था लाउडस्पीकर एवं डीजे बजाता है तो इसके लिए सक्षम अधिकारी से स्वीकृति लेकर धीमी आवाज में बजाना होगा ताकि दूसरे पड़ोसी को परेशानी न हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रात्रि डीजे बजने से बोर्ड परीक्षार्थी हुए परेशान