DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सबको मिल कर करनी होगी वोट की चोट

लखनऊ। ‘आओ राजनीित करें’ की अगली कड़ी में ‘मारो वोट की चोट’ अिभयान के तहत हिन्दुस्तान के दफ्तर में सोमवार को ‘चाय चौपाल’ का आयोजन किया गया। चाय चौपाल में आमिंत्रत शहर के 25 प्रमुख लोग शामिल हुए। चौपाल में चर्चा का विषय था, ‘चुनाव क्यों’ और ‘क्या हैं इस बार चुनाव के मुद्दे’। चर्चा के दौरान दौरान शिक्षा, सुशासन और भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर मंथन कर बेहतरीन प्रत्याशी को वोट देने की वकालत की गई।

यह भी कहा गया कि भ्रष्टाचार रोकने के लिए सुशासन बहुत जरूरी है। इसके अलावा न्याय का मुद्दा शीर्ष परहोना चाहिए। साम्प्रदाियकता भी बड़ा मुद्दा है। राजनैितक दलों का विजन निर्धारित होना चाहिए। आमजन की समस्याओं का समाधान कैसे किया जएगा इस पर भी राजनैितक दलों को ध्यान देना चाहिए। घोषणापत्र में विजन शामिल होना चाहिए। महिलाओं की सुरक्षा और उनके मुद्दे भी चुनाव का मुद्दा होना चाहिए। चौपाल चर्चा में िनकल कर आया कि महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है।

चर्चा में सभी ने एकमत से कहा कि सबको वोट जरूर देना चाहिए। सिरे्फ व्यवस्था को कोसना या घर बैठ कर चर्चा करने से काम नहीं चलेगा। खास तौर पर महिलाओं और पढ़े-िलखे लोगों को वोट जरूर करना चाहिए। पार्टी और दलगत राजनीित से ऊपर उठकर व्यिक्त और विकास के मुद्दे को ध्यान में रखकर चुनाव में मतदान करना चाहिए। चाय चौपाल में ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खािलद रशीद फरंगी महली, शिया धर्मगुरू, मौलाना सैफ अब्बास नकवी, बशिप डॉ ऑिस्टन एंथनी, नेशनल पीजी कॉलेज के प्रधानाचार्य एसपी सिंह, क्रिशि्चयन कॉलेज के प्रो. मौिलन्दु िमश्र, लखनऊ विश्वविद्यालय की पूर्व कुलपित प्रो रूपरेखा वर्मा, केकेसी के प्राचार्य एसडी शर्मा, यूपीटीयू के कुलपित आरके खांडल, भातखण्डे विश्वविद्यालय की कुलपित श्रुित सडोलीकर, केकेसी के वाइस िप्रंसपल विनोद चंद्रा व विरष्ठ रंगकर्मी सूर्यमोहन कुलश्रेष्ठ शहर की कई हिस्तयां शामिल हुईं।

चर्चा में सभी ने हिन्दुस्तान की इस पहल का स्वागत किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सबको मिल कर करनी होगी वोट की चोट