DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंक के खिलाफ एकजुटता

किसी भी सूरत में, किसी भी दलील के सहारे मासूम लोगों की हत्या को जायज नहीं ठहराया जा सकता। इसलिए शनिवार की शाम कूनमींग में जिस बर्बर तरीके से 29 लोगों को मार डाला गया और 130 से भी ज्यादा को बुरी तरह जख्मी किया गया, उससे हमारे भीतर दहशतगर्दों और उनके साथियों के लिए सिर्फ और सिर्फ गुस्सा ही पैदा होगा। उन लोगों के प्रति हमारी गहरी सहानुभूति है, जिनके अपने इस हमले में मारे गए और जो जख्मी हुए हैं। यह हमला रेलवे स्टेशन पर हुआ और बेखबर निरीह मुसाफिर इसकी जद में आ गए। मरने वालों में से कई को तो यह भी पता नहीं था कि हत्यारे आखिर क्यों उन्हें चाकुओं से गोद रहे हैं। मौका-ए-वारदात से बरामद सुबूत बताते हैं कि इस खूनी हमले के पीछे झिंजियांग की अलगाववादी ताकतों का हाथ है। बीजिंग में इस हफ्ते की शुरुआत में नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के प्रतिनिधियों और नेशनल कमिटी ऑफ द चाइनीज पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टिव कॉन्फ्रेंस के सदस्यों की बैठक होने वाली है।

बैठक के पहले इस हिंसक घटना को अंजाम देने का संकेत साफ है कि अलगाववादी देश की स्थिरता को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और झिंजियांग उगियार स्वायत्त क्षेत्र को देश से अलग करना चाहते हैं। इसके लिए उन्हें मासूम नागरिकों की हत्या से भी गुरेज नहीं है। मगर उन्होंने जो कुकृत्य किया है, उससे वे ज्यादातर उगियार लोगों की नजरों में गिरेंगे ही। उगियार लोग शांति और समृद्धि से जीना चाहते हैं और यह तभी हो सकता है, जब देश के सभी लोग एकजुट होकर रहेंगे। उन्होंने जो कुछ भी किया है, उससे सिर्फ यही उजागर होता है कि इस कांड के षड्यंत्रकारी कितने बीमार दिमाग वाले हैं। उन्होंने तथाकथित ईस्ट तुर्किस्तान की स्थापना के लिए कुछ कट्टरपंथी उगियार लोगों का ब्रेनवाश किया और फिर उन्हें मासूम लोगों पर हमले के लिए तैयार किया। लेकिन वे चंद लोगों को थोड़े समय के लिए मूर्ख बना सकते हैं, उगियार बहुमत को नहीं। आतंकियों को वह चीज कभी नहीं मिलेगी, जिसके लिए वे यह सब कर रहे हैं, क्योंकि जो वह चाहते हैं, वह चीन के सभी जातीय समूहों की चाहत के विरुद्ध है।
चाईना डेली, अमेरिका

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आतंक के खिलाफ एकजुटता