DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज महत्वाकांक्षी लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास किया और कहा कि प्रदेश में विकास के एक नये युग की शुरुआत करने वाली इस परियोजना से राजधानी की तस्वीर बदल जाएगी।

मुख्यमंत्री ने पहले चरण में अमौसी हवाई अडडे से मुंशी पुलिया के बीच बनने वाले मेट्रो मार्ग का शिलान्यास करने के बाद कहा कि तेजी से फैलते शहरों के लिये सार्वजनिक परिवहन बेहद जरूरी है और ऐसे परिवहन की सबसे बेहतर प्रणाली मेट्रो है। उन्होंने भरोसा जताया कि आने वाले तीन साल में लखनउ में मेट्रो दौड़ने लगेगी।

उन्होंने कहा आज लखनऊ में मेट्रो की शुरुआत हुई है। यह विकास के एक युग की शुरुआत है। जिन शहरों में मेट्रो शुरू हुई उनकी तस्वीर बदल गयी। मेट्रो एक जरूरत है। अखिलेश ने मेट्रो मैन के नाम से विख्यात पदमश्री ई़ श्रीधरन को लखनउ मेट्रो रेल निगम (एलएमआरसी) के साथ बतौर सलाहकार जुड़ने के लिये धन्यवाद दिया।
     
अखिलेश ने कहा कि अगर पिछली सरकार के कार्यकाल में धन की बर्बादी ना हुई होती तो उन्हीं पैसों से मेट्रो चल जाती। इतने बड़े पैमाने पर देश और दुनिया में कहीं और धन की बर्बादी नहीं की गयी होती तो लखनऊ और उत्तर प्रदेश कहीं और दिखायी देता। इस मौके पर समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री से कहा कि वह तीन साल के बजाय डेढ़ साल के अंदर मेट्रो का संचालन शुरू कराएं। इसके लिये तीन पालियों में आठ-आठ घंटे लगातार काम कराया जाए।
     
लखनउ मेट्रो के पहले चरण में अमौसी से मुंशी पुलिया के बीच उत्तर-दक्षिण कारीडोर के तहत करीब 23 किलोमीटर के मार्ग का निर्माण होगा। यह चरण मार्च 2018 तक पूरा होना है। दूसरे चरण में चारबाग से वसंत कुंज के बीच 11 किलोमीटर लम्बे मार्ग का निर्माण शुरू किया जाएगा जो मार्च 2019 तक पूरा होगा। परियोजना के तहत कुल 22 मेट्रो स्टेशन बनाए जाएंगे। इस पर करीब 13000 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास