DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहयोग नहीं कर रहीं बिजली कंपनियां: कैग

सहयोग नहीं कर रहीं बिजली कंपनियां: कैग

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) तथा दिल्ली सरकार ने सोमवार को दिल्ली उच्च न्यायालय को सूचित किया कि दिल्ली की तीन बिजली वितरण कंपनियां (डिस्काम) आडिट के काम में सहयोग नहीं कर उसके (अदालत के) आदेश का उल्लंघन कर रही हैं।

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बीडी अहमद तथा न्यायाधीश एस मदुल की खंडपीठ के समक्ष यह बात रखी गई। दिल्ली सरकार तथा कैग का कहना है कि ये कंपनियां उसके (कैग) द्वारा मांगे गए दस्तावेज उपलब्ध नहीं करा रही हैं। अदालत की एकल पीठ ने इन कंपनियों से सरकारी अंकेक्षक से सहयोग करने का निर्देश दिया था। कंपनियों ने इसके खिलाफ अपील की जिस पर सुनवाई सात मार्च को होनी है।

इन डिस्काम ने इस आधार पर कार्रवाई मुल्तवी करने की मांग की कि दूरसंचार कंपनियों के कैग आडिट से जुड़े मुद्दा कल उच्चतम न्यायालय के समक्ष आ रहा है। दिल्ली सरकार की ओर से वकील प्रशांत भूषण तथा कैग की ओर से वकील अमन लेखी अदालत में हाजिर हुए और कहा कि टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन (टीपीडीडीएल), रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप की बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड तथा बीएसईएस यमुना पावर सहयोग नहीं कर रही हैं। मामले की आगे सुनवाई 24 मार्च को होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सहयोग नहीं कर रहीं बिजली कंपनियां: कैग