DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुलंद हौसले से सधेगा लक्ष्य

बुलंद हौसले से सधेगा लक्ष्य

आवेदन की अं.ति.
05 अप्रैल, 2014
लिखित परीक्षा की तिथि
13 जुलाई 2014

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) का नामकरण 2011 में किया गया था। इसके अंतर्गत बीएसएफ, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी को शामिल किया जाता है। हर साल सीएपीएफ द्वारा उपरोक्त पांचों सेनाओं के लिए रिक्तियां घोषित की जाती हैं। इसके लिए संघ लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षा आयोजित की जाएगी। यह भर्ती महिला व पुरुष दोनों वर्गो के लिए है।

स्नातक के बाद करें आवेदन
इसमें उम्मीदवार को सबसे पहले शैक्षिक विवरण को सुनिश्चित करना होगा। इसके अंतर्गत उनके पास किसी मान्यताप्राप्त विवि या महाविद्यालय से बैचलर डिग्री या अन्य समकक्ष योग्यता होनी आवश्यक है। स्नातक अंतिम वर्ष की परीक्षा में सम्मिलित होने वाले भी आवेदन के योग्य हैं। इसके लिए आयोग ने उम्र-सीमा का बंधन भी तय कर रखा है। उम्मीदवार को 20-25 वर्ष की आयु-सीमा के भीतर होना जरूरी है। आरक्षण समूह के अंतर्गत आने वाले उम्मीदवारों को सरकारी आदेशानुसार छूट का भी प्रावधान है।

ऑनलाइन व ऑफलाइन आवेदन
आवेदन ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों ही तरीकों से किया जा सकता है। ऑनलाइन आवेदन के लिए यूपीएससी की वेबसाइट पर जाकर विवरण भरना होता है। ऐसे में अपनी फोटो व हस्ताक्षर स्कैन करा कर पहले ही तैयार रखने चाहिए। इस माध्यम में फीस का भुगतान क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड अथवा एसबीआई नेट बैंकिंग द्वारा किया जा सकता है, जबकि ऑफलाइन आवेदन में फार्म भर कर फीस एसबीआई की किसी भी शाखा में जमा करनी होती है।

चयन तीन चरणों के बाद
लिखित परीक्षा
शारीरिक दक्षता परीक्षा
साक्षात्कार
इसमें लिखित परीक्षा पहले ही संपन्न करा ली जाती है। उसमें सफल होने के पश्चात पीईटी (शारीरिक दक्षता परीक्षण) में बैठने की अनुमति मिलती है।

दो पेपरों पर है दारोमदार
लिखित परीक्षा दो पेपरों के आधार पर होती है। परीक्षा हिन्दी व अंग्रेजी दोनों चरणों में होती है। पहला पेपर- पहला पेपर सामान्य योग्यता एवं बुद्धिमत्ता का होता है। इसमें पूछे जाने वाले प्रश्न बहुविकल्पीय होते हैं। यह खंड 250 अंकों तथा 2 घंटे का होता है। प्रश्न हिन्दी व अंग्रेजी दोनों में होते हैं।

दूसरा पेपर- दूसरा पेपर निबंध लेखन एवं कांप्रिहेंशन पर आधारित होती है। यह खण्ड 200 अंकों का होता है। इसमें प्रश्न विस्तृत होते (डिस्क्रिप्टिव) हैं तथा इसके लिए तीन घंटे का समय दिया जाता है।

नेगेटिव मार्किंग से सावधान
इस परीक्षा में गलत उत्तर दिए जाने पर नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान है, इसलिए उत्तर देते समय सावधानी बरतें। कहने का तात्पर्य यह है कि जिन प्रश्नों को लेकर आपको भ्रम की स्थिति है, उन्हें छोड़ कर आगे बढ़ जाएं।

शारीरिक दक्षता परीक्षण भी अहम
इसके अंतर्गत 100 एवं 800 मीटर की दौड़, लंबी कूद, ऊंची कूद, गोला फेंकना आदि परीक्षण संबंधी कार्य कराए जाते हैं। पुरुष को 100 मीटर की दौड़ 16 सेकेंड, महिलाओं को 18 सेकेंड, 800 मीटर की दौड़ पुरुष को तीन मिनट, महिलाओं को चार मिनट 45 सेकेंड, साढ़े तीन मीटर ऊंची कूद के लिए दोनों को तीन अवसर मिलते हैं। इसी तरह गोला क्षेपण (7.26 किग्रा) साढ़े चार मीटर का होता है। महिलाओं को इसके लिए छूट मिलती है। इसके पश्चात उन्हें चिकित्सा परीक्षण के लिए भेजा जाता है।

इंटरव्यू से जुड़ी जानकारी
चिकित्सा परीक्षण में सफल होने के पश्चात उम्मीदवार को साक्षात्कार अथवा व्यक्तित्व परीक्षण के लिए बुलाया जाता है। यह व्यक्तित्व परीक्षण 200 अंकों का होता है। 

योग्यता सूची
इस भाग में अभ्यर्थी की योग्यता सूची जारी की जाती है, जो लिखित परीक्षा, साक्षात्कार आदि में प्राप्त किए गए अंकों के आधार पर बनाई जाती है। इसी के आधार पर अभ्यर्थी की समस्त भूमिका एवं उसकी उपस्थिति सुनिश्चित की जाती है तथा उसे सूचना दी जाती है।

तैयारी के आवश्यक टिप्स
सामान्य योग्यता के खंडों को हल करने के लिए एनसीईआरटी के बारहवीं स्तर की पुस्तकों का गहराई से अध्ययन करना होगा। ये प्रश्न संख्यात्मक योग्यता से भी संबंधित होते हैं।
भारतीय संदर्भ से जुड़े इतिहास, भूगोल, पंचायती व्यवस्था, देश-विदेश की घटनाओं पर भी प्रश्न पूछे जाते हैं।
कांप्रिहेंशन के सेक्शन में पैसेज पर आधारित प्रश्न आते हैं, जिन्हें नियमित अभ्यास करते रहने से ही हल करना संभव हो पाता है।
निबंध लिखने की कला भी विकसित करने का प्रयास करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुलंद हौसले से सधेगा लक्ष्य