DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टी टेस्टर: चाय हो जाए

टी टेस्टर: चाय हो जाए

पूरी दुनिया में चाय पीना करोड़ों लोगों की दिनचर्या का हिस्सा है, इसलिए आज के दौर में टी टेस्टिंग एक उभरता हुआ करियर बनता जा रहा है। आइए जानते हैं इस करियर के बारे में-

टी टेस्टर वह व्यक्ति होता है, जो न केवल चाय को चख कर उसकी जांच करता है, बल्कि उसे विभिन्न चायों के बीच अंतर को भी पहचानना होता है और एक खास तरह का स्वाद पाने के लिए उसे किस तरह से उबाला जाए, इसके विभिन्न तरीकों पर विशेषज्ञ सलाह भी देनी होती है। इसके लिए चाय बागान में चाय उगाने और तैयार करने की विभिन्न प्रक्रियाओं का ज्ञान होना चाहिए तथा साथ ही सभी तरह की चाय, पत्तियों, ग्रेड्स व लिकर्स के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। इस पेशे की खास बात है इसमें मिलने वाली ऊंची सेलरी व बेहतरीन जॉब लोकेशन जैसे असम व केरल, जहां पर बेहतरीन चाय बागान मौजूद हैं। टेस्टर को प्रोडक्ट की ब्रांडिंग व मार्केटिंग करनी होती है तथा उत्पादकों, निर्यातकों, आयातकों, शोधकर्ताओं के साथ समन्वय करना होता है। साथ ही घरेलू व विदेशी चाय बाजारों में वर्तमान प्रचलनों के बारे में भी जागरूक होना होता है।

पारिश्रमिक
काफी सारे होटलों में टी रूम होते हैं और वे विभिन्न स्तरों पर इन्हें नियुक्त करते हैं, जो चाय के ब्लेंड तैयार करते हैं, चाय को मिला कर नए स्वाद बनाते हैं यानी विकल्प बेशुमार हैं। किसी पांच सितारा होटल में काम करने वाले को करीब 50 हजार रुपये प्रतिमाह की शुरुआत मिल सकती है, जो आगे अनुभव के साथ और भी बढ़ सकती है।

दक्षता तथा योग्यता
इस क्षेत्र में जाने के इच्छुक के पास स्वाद ग्रंथि तथा सुगंध को पहचानने की क्षमता होनी चाहिए।
चाय तथा उसके इतिहास, प्रोसेसिंग के तरीके तथा उसे तैयार करने की विधि का पता होना चाहिए
निर्णय लेने की क्षमता
बारीक विवरण पहचानने की क्षमता
शारीरिक रूप से स्वस्थ, स्वीकार्य तथा खुद पर भरोसा रखता हो
बेहतर सम्प्रेषण का कौशल
चाय के बाजारों की जानकारी हो तथा बाजार को बदलने या प्रभावित करने वाले कारणों से वाकिफ हो तथा उनके प्रति सजग हो।
प्रकृति प्रेमी हो

कैसे हासिल करें मुकाम
फिलहाल टी टेस्टिंग में किसी तरह की औपचारिक डिग्री या कोर्स उपलब्ध नहीं हैं। वैसे कुछ सर्टिफिकेट कोर्स टी टेस्टिंग के क्षेत्र में उपलब्ध हैं, जो छात्रों को टी टेस्टिंग की विभिन्न तकनीक सीखने व वैज्ञानिक ज्ञान जुटाने में मदद करते हैं। कोर्स के लिए बेसिक योग्यता ग्रेजुएशन है। बहरहाल कोई छात्र इस बात पर भरोसा करता है कि वह टी टेस्टर का करियर अपनाना चाहता है तो उसे फूड साइंस, हॉर्टिकल्चर, एग्रीकल्चर साइंस या बॉटनी में शैक्षिक योग्यता उसके ज्ञान जुटाने में मददगार साबित हो सकती है। यदि आप टी टेस्टर के रूप में करियर शुरू करना चाहते हैं तो चाय उत्पादक देश भारत, श्रीलंका या ताइवान में पढ़ाई करना बेहतर होगा।

पेय का मास्टर बनने के लिए आपको प्रैक्टिस करनी होती है और इसके बाद बाकी सब कुछ अपने आप होता चला जाता है।
स्निग्धा मनचंदा, मुंबई स्थित टी टेस्टर

फैक्ट फाइल
संस्थान तथा वेबसाइट

टी समलियर एकेडमी, कोलंबो
www.freshtea-lab.com/teasommeliera.htm

स्पेशियलिटी टी इंस्टीट्यूट, यूएसए
www.teausa.com/14613/specialty-tea-institute

लिप्टन इंस्टीट्यूट ऑफ टी
www.lipton.com.au/about/about_lipton/lipton_institute_of_tea

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ प्लांटेशन मैनेजमेंट, बेंगलुरू
 www.iipmb.edu.in/images/application/PCP-TTMBrochureMay2013.pdf

फायदे और नुकसान
हॉस्पिटेलिटी सेक्टर में टी टेस्टिंग एक उभरता हुआ हुनर है
वेतन काफी बेहतर है
लोगों को फिलहाल टी टेस्टर के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, इसलिए मौजूदा समय में अवसर कम हैं, लेकिन मौके तैयार हो रहे हैं
चाय के साथ दुनिया की विभिन्न संस्कृतियों के बारे में जानने का मौका मिलता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टी टेस्टर: चाय हो जाए