DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जॉब-सोशल नेटवर्किंग स्किल

जॉब-सोशल नेटवर्किंग स्किल

सोशल नेटवर्किंग एक दुधारी तलवार जैसा काम है। यदि आपने अभी हाल ही में पढ़ाई खत्म की है तो करियर नेटवर्किंग साइट पर आप अपने पसंदीदा विषय के बारे में बात कर सकते हैं, अपने किसी प्रोफेसर की रिकमन्डेशन ले सकते हैं। आप जिस इंडस्ट्री में जाना चाहते हैं, उस इंडस्ट्री के अनुभवी लोगों को नेटवर्क से जोड़ने की कोशिश कर सकते हैं। यदि आपने उस इंडस्ट्री के बारे में कुछ अच्छा पढ़ा है तो उसे आप शेयर कर सकते हैं, किसी ने कुछ अच्छा लिखा है तो आप उस पर अपनी टिप्पणी दे सकते हैं। सार यह है कि आपका होने वाला नियोक्ता जब भी आपका प्रोफाइल देखे तो उसे यह महसूस होना चाहिए कि आप एक गम्भीर उम्मीदवार हैं और किसी विशेष इंडस्ट्री पर पकड़ बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर यदि आप किसी एक इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं तो अपने सीनियर (खासकर, जिसे आपने कभी रिपोर्ट किया हो) की रिकमन्डेशन ले सकते हैं, यदि आपने कोई अवॉर्ड हासिल किया है तो उसे शेयर कर सकते हैं, यदि आपने अपने कार्यक्षेत्र में कुछ नया (इनोवेटिव) किया है या सामान्य ड्य़ूटी के अलावा कुछ और किया है तो उसे आप दुनिया की नजर में ला सकते हैं, बाकी बातें नए और अनुभवी लोगों के लिए सामान हैं।

इस सबके अलावा एक बात और याद रखें। जरूरी नहीं कि नियोक्ता सिर्फ और सिर्फ करियर नेटवर्किंग साइट्स जैसे लिंक्डइन ही देखता हो, हो सकता है वो आपकी सोशल नेटवर्किंग साइट जैसे फेसबुक भी देखता हो तो कृपया उसे भी साफ- सुथरा रखें। कई साइट्स नियोक्ताओं को पूरी प्रोफाइल देखने की सुविधा देती हैं, इसलिए कोई भी अश्लील टिप्पणी, फोटोग्राफ या लिंक आपके करियर की भ्रूणहत्या कर सकता है।
सुशील कुमार पारे   (असिस्टेंट प्रोफेसर, टीआईएमएसआर, मुंबई)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जॉब-सोशल नेटवर्किंग स्किल