DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजे-बैंसला के बीच महत्वपूर्ण वार्ता आज

गुर्जरों के आरक्षण आंदोलन का समाधान निकालने के लिए कर्नल बैंसला और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बीच मंगलवार को निर्णायक वार्ता होगी। इससे पहले राज्य सरकार एवं कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के बीच सोमवार को हुई चौथे दौर की वार्ता को दोनों पक्षों ने संतोषजनक बताया। बातचीत के बाद बैंसला ने कहा था कि वह बातचीत से संतुष्ट हैं। सरकार के मुख्य वार्ताकार रामदास अग्रवाल ने भी उम्मीद जताई है कि मंगलवार को अंतिम निर्णय हो जाएगा और प्रदेश में पुन: शांति स्थापित होगी। हालांकि गुर्जरों की जनजाति आरक्षण की मुख्य मांग को लेकर दोनों पक्ष अधिकृत रूप से कुछ भी कहने से बच रहे हैं लेकिन वार्ता में शामिल कुछ गुर्जर नेताओं ने बताया कि यह मांग पूरी होना मुश्किल है और सिफारिश की चिट्ठी केंद्र को भेजे जाने से भी कुछ नहीं होगा। सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार का कहना है कि गुर्जरों को उनकी शर्तो के मुताबिक आरक्षण देने से ओबीसी की अन्य जातियां नाराज हो सकती हैं। वैसे भी राजनीतिक रूप से प्रभावशाली जाट समुदाय ओबीसी में छेडख़ानी के खिलाफ है। दूसरी तरफ घूमन्तू जाति का दर्जा देने से गुर्जर सहमत नहीं हैं क्योंकि अव्वल तो वह इस श्रेणी में नहीं आते। दूसरा इसे अदालत में चुनौती देकर अटकाया जा सकता है। बाकी मांगों में मुकदमों के अलावा अन्य सभी पर मोटे तौर पर सहमति हो चुकी है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजे-बैंसला के बीच महत्वपूर्ण वार्ता आज