DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी बोले, देश का भला नहीं कर सकता तीसरा मोर्चा

मोदी बोले, देश का भला नहीं कर सकता तीसरा मोर्चा

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने तीसरे मोर्चे में शामिल नेताओं को चुनावी खिलाड़ी बताते हुए सोमवार को दावा किया कि उसमें शामिल लोग चुनाव का माहौल तो बिगाड़ सकते हैं, लेकिन कभी देश का भला नहीं कर सकते हैं।

बिहार के मुजफ्फरपुर में आज आयोजित अपनी हुंकार रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि क्या तीसरे मोर्चे वालों ने कभी किसी का भला किया है। ये छह महीने या एक साल पहले कहीं नजर आते थे। मोदी ने तीसरे मोर्चे में शामिल नेताओं के बारे में कहा कि जब चुनाव का बिगुल बजता है, तभी ये जागते हैं और फिर पांच साल सो जाते हैं। ये चुनावी खिलाड़ी चुनाव का माहौल तो बिगाड़ सकते हैं, पर कभी देश का भला नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि तीसरे मोर्चे में वे दल शामिल हैं, जिन्होंने कांग्रेस को बचाने का काम किया है। कभी वे कांग्रेस के लालच में फंसकर काम करते हैं तो कभी सीबीआई से डरकर काम करते हैं। मोदी ने कहा कि चाहे वह कांग्रेस या तीसरा मोर्चा हो उन्होंने वादे तो बहुत किए पर क्या कोई निभाया है और गरीबों की परवाह की है। वामदल सहित 11 दलों को साथ लेकर तीसरे मोर्चे के गठन में सक्रिय नीतीश के बारे में मोदी ने कहा सार्वजनिक जीवन में हिप्पोक्रेसी (ढोंग) नहीं चलती है।

मोदी ने कहा कि उनकी प्राथमिकता देश की समस्याओं का हल ढूंढ़ना और उनके विरोधियों की प्राथमिकता है मोदी का विकल्प ढूंढ़ना और वे इसमें लगे हुए हैं यह जो संकुचित मानसिकता है वह देश का कभी भी भला नहीं कर सकती है। उन्होंने राजग को राष्ट्रीय विकास गठबंधन की संज्ञा दी तथा राजग में लोजपा और राष्ट्रीय समता विकास पार्टी का स्वागत करते हुए कहा कि इसका विस्तार हो रहा है और यह बढ़ता ही जाएगा।

गुजरात के मुख्यमंत्री और भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने विपक्षी दलों के बारे में कहा कि इससे उनको परेशानी हो रही है तथा यह और भी बढ़ने वाली है। उन्होंने कहा कि भाजपा को बनिया और ब्राहमण की पार्टी मानने वाले ये लोग आज उसके द्वारा पिछड़ी जाति के एक बेटे को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने से चौंक गए हैं। उन्होंने कहा कि आने वाला दशक हिंदुस्तान में दलितों, पीड़ितों, शोषितों और आदिवासियों के विकास और उनकी रक्षा का दशक होगा।

हाल में भाजपा के साथ गठबंधन करने वाले और उनके साथ मंच पर मौजूद लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवन के बारे में मोदी ने कहा कि वे राजग छोड़कर गए थे, पर उसके बाद कहीं और कभी भी उनसे मुलाकात हुई तो प्यार से मिले। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ अपनी अखबार में छपी फोटो के कारण उनके नाराज होने की ओर इशारा करते हुए मोदी ने कहा कि लेकिन उनके साथ कभी पासवान की अखबार में फोटो छपने पर वे डरे नहीं और न कोई कोई ढोंग नहीं किया।

उन्होंने नीतीश की तरफ इशारा करते हुए कहा कि हमने तो वैसे नेता देखे हैं कि कमरे में तो बड़े प्यार से बातें करते हैं। भोजन के टेबिल पर भी बैठते हैं, लेकिन अगर पब्लिक के बीच हाथ मिलाना है तो पसीना छूट जाता है। मोदी ने कहा कि लोकतंत्र में विरोध हो सकता है, लेकिन लोकतंत्र में हिप्पोक्रेसी के लिए कोई जगह नहीं हो सकती है। जनता गलतियों को माफ कर सकती है पर जनता हिप्पोक्रेसी को कभी भी माफ नहीं कर सकती।

पिछले वर्ष 27 अक्टूबर को पटना के गांधी मैदान में भाजपा द्वारा आयोजित हुंकार रैली की चर्चा करते हुए मोदी ने कहा कि उस रैली में राजनीतिक द्वेष के कारण निर्दोष लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया और एक के बाद एक बम धमाके ने पटना की धरती को लहुलूहान कर दिया, उन बम धमाके के घाव भारत के लोकतंत्र के सीने पर लगे थे। वे बमों के घाव हिंदुस्तान की भाईचारा और एकता और सद्भावना पर लगे थे।

पटना में आयोजित इस रैली को मोदी द्वारा संबोधित किए जाने के पूर्व हुए सिलसिलेवार धमाकों में छह लोगों की मौत हो गयी थी। मोदी ने कहा कि तबाही करने वाले जितनी भी कोशिश क्यों नहीं कर लें, पर इतने बड़े हमले के बाद भी शांति, एकता और भाईचारे का दर्शन बिहार के लोगों ने उन्हें कराया, उसके लिए इस धरती और यहां के लोगों को प्रणाम करते हैं।

मोदी ने कहा कि शांति, एकता और सद्भावना के बिना यह देश विकास और प्रगति नहीं कर सकता है। शांति, एकता, भाईचारा, सदभावना की नीव पर ही विकास की इमारत बनने वाली है। उन्होंने कहा कि किसी को उनसे और किसी को भाजपा से ऐतराज हो सकता है। लोकतंत्र में उनको विश्वास न हो और उन्हें अच्छा भी लगता होगा कि इन धमाकों ने इनका खेल पूरा किया, लेकिन भाजपा के नेताओं को सुरक्षा मिले न मिले पर बेगुनाह नागरिकों को क्यों मारा जा रहा है।

मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर इशारा करते हुए कहा कि आखिर उन धमाकों में मरने वाले बिहार के ही वासी थे, पर वोट बैंक की राजनीति में डूबे हुए लोग इस दर्द और पीड़ा को नहीं समझ सकते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी विचारधारा और राजनेताओं से देश को जितनी जल्दी मुक्ति मिलेगी उतना ही देश का भला होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोदी बोले, देश का भला नहीं कर सकता तीसरा मोर्चा