DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्षत्रियों का अखिलेश सरकार से मोह भंग

कार्यालय संवाददाता, अलीगढ़। क्षत्रिय सभा अलीगढ़ की बैठक वर्तमान राजनीतिक हालात को लेकर हुई। इसमें वक्ताओं ने कहा कि अखिलेश सरकार से जो समाज को आशाएं थीं, उनके पूरा न होने से फिलहाल उदासीनता का माहौल है। सभा ने सजातीय अफसरों को हटाए जाने का उदाहरण देते हुए इसे समाज की उपेक्षा के रूप में लिया है। क्षत्रिय सभा के प्रवक्ता सतीश कुमार सहि एडवोकेट ने मुताबिक संगठन की एक बैठक आयोजित की गई।

बैठक में सपा सरकार में क्षत्रिय समाज के अधिकारी और नेताओं की स्थिति के बारे में विचार व्यक्त किए गए। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में क्षत्रिय समाज को खास तवज्जो नहीं मिल रही है। बीते दिनों चुन-चुन कर क्षत्रिय समाज के अधिकारियों के तबादले कर दिए गए, वहीं सपा जिलाध्यक्ष डा. रक्षपाल सिंह के साथ ही कोई अच्छा व्यवहार नहीं किया जा रहा है। उनका काफी समय शिक्षा के क्षेत्र में बीता। फिर भी आगरा खंड स्नातक एमएलसी सीट से प्रत्याशी नहीं बनाया गया।

इसलिए अब समाज का रुझान बसपा की ओर बढ़ रहा है, क्योंकि उसके शासन में अलीगढ़ में समाज का प्रतिनिधित्व सम्मानजनक हुआ, बड़ी संख्या में अधिकारी रहे। लॉ एंड आर्डर की स्थिति ठीक रही। जबकि अन्य दलों में भी क्षत्रिय समाज का कोई स्थान नहीं है। बैठक का संचालन सतीश कुमार सिंह एडवोकेट ने किया, जबकि बैठक में तेजवीर सिंह, जयसिंह पाल सिंह, महताब सिंह, महावीर सिंह, शंकरपाल सिंह, महिपाल सिंह, जयपाल सिंह, चंद्रहास सिंह, मुकेश तौमर, रनवीर सिंह, लाखन सिंह शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:क्षत्रियों का अखिलेश सरकार से मोह भंग