DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नरेंद्र मोदी सर्वमान्य नहीं : सांसद

जमशेदपुर वरीय संवाददाता। आज भाजपा और उसके नेता नरेंद्र मोदी द्वारा आरएसएस जैसे फासीवादी संगठन का प्रतिनिधित्व सर्वमान्य नहीं है। ऐसी पार्टी का केंद्र में आना देशहित में नहीं है। यह बातें जमशेदपुर के सांसद डॉ. अजय कुमार ने रविवार को मिल्लत हॉल टेल्को में ‘वर्तमान राजनैतिक परिवेश में विविधता में एकता एक राष्ट्रीय चुनौती’ शीर्षक विचार गोष्ठी में कहीं।

सोसाईटी फॉर सोशल कॉज (एसएफएससी) के तत्वावधान में आयोजित विचार गोष्ठी में बिहार विधान परिषद के एमएलसी तनवीर हसन ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा द्वारा नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री नामित कर देना संविधान विरोधी है, क्योंकि संविधान के मुताबिक निर्वाचित सांसद ही प्रधानमंत्री का चुनाव कर सकते हैं। जमशेदपुर पश्चिम के विधायक बन्ना गुप्ता ने कहा कि भारत की गंगा यमुनी संस्कृति हमारी धरोहर है। हमें हर हाल में इसे बचाकर सांप्रदायिक ताकतों के मनोबल को कुचलना होगा।

बिहार विधानसभा के सदस्य राजद नेता दुर्गा प्रसाद सिंह ने कहा कि धर्मनिरपेक्ष दलों को एकजुट होना होगा। संचालन कांग्रेस नेता रियाजुद्दीन खान, अध्यक्षता समाजसेवी शमीमुल हक और स्वागत जावेद अख्तर ने किया। टाटा वर्कर्स यूनियन के उपाध्यक्ष शाहनवाज आलम ने कहा कि संस्थापक जेएन टाटा धर्मनिरपरेक्षता के बेहतरीन मिसाल हैं। गोष्ठी में सरफराज अहमद, कफील अहमद, शफी अनवर, एहसान शीराजी, डबलू, शफी अहमद खान, मो. दानशि, मुख्तार अहमद आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नरेंद्र मोदी सर्वमान्य नहीं : सांसद