DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंद से नहीं मिलेगा विशेष राज्य

रांची। संवाददाता। रविवार को बंदसफल रहा। शाम होते ही नेताओं के यही बोल निकलने शुरू हो गए। लेकिन आम लोगों को इससे भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। लोगों ने खुलकर कहा कि बंद से विशेष राज्य नहीं मिलनेवाला है।

जेवीएम नेता जब मुख्यमंत्री थे, तो क्यों नहीं राज्य को विशेष राज्य का दर्जा दिलवा दिया। वहीं दूसरे नेता तो कई साल डिप्टी सीएम रहे। लेकिन सत्ता से बाहर होते ही विशेष राज्य की याद सताने लगी। बंद से हलकान रहे लोगों से लाइव ने की बातचीत..सुमन - बंद करने से कैसे मिल जाएगा विशेष राज्य यह हमको कोई समझाए।

जिस तरह की परेशानी ङोलनी पड़ रही है, उससे तो ऐसे ही अच्छे हैं। संजीव - बंद के दिन तो कुछ भी करना मुश्किल होता है। दूध-दवा जैसी जरूरी चीजें भी नहीं मिल पाती हैं। चुनाव नजदीक है, इसलिए यह हो रहा है। प्रतिमा - इसमें राजनीति के अलावा और कुछ नहीं है। खुद बाबूलाल मरांडी जब मुख्यमंत्री में थे तो क्यों विशेष राज्य की मांग की। कौशल्या - सब समझते हैं, वोट के लिए यह सब हो रहा है।

लेकिन हमलोग बेवकूफ नहीं हैं जो केवल बंद करने वाले को वोट दे देंगे। सबीना - हमको नहीं पता बंद किसलिए किया जा रहा है। लेकिन इससे हमको बहुत परेशानी हुई है। यदि यह सब जनता के लिए किया जा रहा है तो गलत है। सद्दाब - सब पॉलिटिक्स है। इलेक्शन का समय आ गया है न। इसलिए ऐसा हो रहा है। अभी तो शुरुआत है। आगे हमलोगों को और ङोलना पड़ेगा। प्रभात - यह सब नेता अपने लिए कर रहे हैं।

जनता को कुछ हासिल नहीं होनेवाला है। एक दिन बंद करने से क्या हो जाएगा। केवल आम लोगों को घाटा हो रहा है। अजीत - जब भी बंद होता है इसका घाटा आम जनता को ही हुआ है। कोई नेता हमको समझाए कि बंद करने से विशेष राज्या का क्या संबंध है?।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंद से नहीं मिलेगा विशेष राज्य