DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुवाहाटी में महकी बिहार की सांस्कृतिक खुशबू

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। असम की राजधानी गुवाहाटी में बिहार की सांस्कृतिक खुशबू महक उठी। बिहार के कलाकारों ने नृत्य व संगीत की अनुपम छटा बिखेरी। बिहार की सांस्कृतिक समृद्धि व विकास की धमक पहुंचाने के मकसद से गुवाहाटी में एक से तीन मार्च तक तीन दिवसीय बिहार महोत्सव का आयोजन हो रहा है। गुवाहाटी के रवींद्र भवन में महोत्सव के दौरान बिहार के लोकगीत, लोकनृत्य, हस्तशिल्प, मधुबनी पेंटिंग, लिट्टी-चोखा और चूड़ा-घुघनी जैसे लोकप्रिय व्यंजनों ने सबको आकर्षित किया।

महोत्सव में बड़ी संख्या में प्रवासी बिहारी शामिल हुए। आयोजन बिहार के कला संस्कृति विभाग ने असम सरकार के सांस्कृतिक परिक्रमा विभाग के सहयोग से किया गया है। शनिवार की शाम को असम सरकार के सचिव स्वप्ननील बरुआ ने महोत्सव का उदघाटन किया।

कहा कि बिहार व असम में करीब डेढ़ सौ साल पुराना संबंध है। बिहार के लोगों ने असम के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। विद्यापति व फणीश्वर नाथ रेणू जैसे रचनाकार यहां भी चर्चित हैं। सांस्कृतिक कार्य निदेशालय,बिहार के निदेशक कुमार देवेंद्र प्रज्जवल ने असम के अधिकारियों को सम्मानित किया।

कहा कि बिहार विकास के दौर में है। महोत्सव के आयोजन से हमारी सांस्कृतिक समृद्धि का फलक व्यापक होगा। उन्होंने सांस्कृतिक सचवि, बिहार चंचल कुमार के शुभकामना संदेश को पढ़ा। धन्यवाद ज्ञापन बिहार संगीत नाटक अकादमी की सचवि विभा सिन्हा ने किया।

नचारी से किया मंत्रमुग्धः दूसरे सत्र में बिहार के लोक रंग की प्रस्तुति की गयी। कार्यक्रम का शुभारंभ कवि सत्यनारायण लिखित राज्यगीत मेरे भारत के कंठ हार से हुई। इसके बाद डॉ. शांति जैन लिखित बिहार गौरव गान को 40 लोकनृत्य कलाकारों ने प्रस्तुत किया।

मैथिली की गायिका रंजना झा ने विद्यापति के गोसाउनिक गीत व नचारी से मंत्रमुग्ध कर दिया। भोजपुरी गायिका नीतू कुमार नूतन ने कजरी व झूमर प्रस्तुत किए। लोकनर्तक हरेकृष्ण सिंह मुन्ना के नेतृत्व में होरी और जोगीरा प्रस्तुत किया।

मुख्य आकर्षण रहा अर्जुन चौधरी के नेतृत्व में रिदम ऑफ बिहार। गुवाहाटी के चर्चित बिहू ढोल वादक सोमनाथ बोरा ने बिहार के कलाकारों के साथ युगलबंदी की। असमिया कलाकार प्रवीण सैकिया के नेतृत्व में करबी नृत्य भी पेश किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुवाहाटी में महकी बिहार की सांस्कृतिक खुशबू