DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चारा घोटाले में त्रिपुरारी शरण की संपत्ति होगी नीलाम

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। आयकर विभाग चारा घोटाला में संलिप्त सप्लायर त्रिपुरारी मोहन प्रसाद की संपत्ति नीलाम करेगा। 28 मार्च को श्री प्रसाद की करोड़ो की संपत्ति नीलाम की जाएगी। सगुना मोड़ स्थित बसीकुंज अपार्टमेंट के 18 फ्लैटों की नीलामी होगी। आयकर विभाग ने इन फ्लैटों को पहले ही जब्त कर लिया है। इस अपार्टमेंट में 72 फ्लैट हैं।

ब्लॉक बी के फ्लैट नं. 301, 302, 303, 304, 305 व 306 , 401, 402, 403, 404, 405 व 406 एवं 501, 502, 503, 504, 505, 506 की नलामी होगी। इन फ्लैटों की नीलामी राजस्व भवन के द्वितीय तल्ले पर होगी। यह नीलामी 43 करोड़ 3 लाख, 71 हजार, 840 रुपए टैक्स बकाया के विरुद्ध है। आयकर विभाग के सेंट्रल रेंज के टैक्स रिकवरी ऑफसिरे बिजेंद्र रजक ने संपत्ति नीलामी की अधिसूचना जारी की है। आयकर विभाग ने श्री प्रसाद की संपत्ति 6 माह पहले ही जब्त कर ली थी।

रांची हीनू में भी 8 कट्ठे जमीन पर बना शविम् अपार्टमेंट को जब्त कर लिया गया है। इस अपार्टमेंट में 24 फ्लैट हैं। वर्ष 1992 में आयकर इन्वेस्टिगेशन टीम ने त्रिपुरारी मोहन के ठिकानों पर छापेमारी कर 4 करोड़ रुपए नकद जब्त किया था। इसके बाद 1996 में श्री प्रसाद पशुपालन घोटाले में अभियुक्त बनाए गए। सिर्फ त्रिपुरारी प्रसाद पर 17 करोड़ 94 लाख रुपए आयकर बकाया है। कंपनियों पर 50 करोड़ बकाया त्रिपुरारी मोहन प्रसाद ने आपूर्ति के लिए छोटी-छोटी कंपनियां बनाई थी।

उन पर करीब 50 करोड़ रुपए टैक्स बकाया है। उसके भाई अनिल सिन्हा पर 8 करोड़ 36 लाख, सुनील सिन्हा पर एक करोड़ 82 लाख आयकर बकाया है। त्रिपुरारी प्रसाद की सभी कंपनियां बिहार व झारखंड में है।

इनमें बाबा केमिकल्स वर्क्‍स, पल्प एण्ड फूड लिमिटेड, कात्यायनी इंटरप्राइजेज लिमिटेड, कौटल्या इंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड, सिमरिया वेटनरी इंटरप्राइजेज, शांतिक्रिएटर प्राइवेट लिमिटेड, आयरन इंडस्ट्रीज एंड हाउसिंग प्राइवेट लिमिटेड प्रमुख हैं। त्रिपुरारी मोहन प्रसाद की कई और संपत्ति का पता चल रहा है। पाटलिपुत्र स्थित डॉन बॉस्को प्राइमरी स्कूल उन्हीं के मकान में चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चारा घोटाले में त्रिपुरारी शरण की संपत्ति होगी नीलाम