DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘हिन्दुस्तान’ में छपी तस्वीर ने पहुंचाया घर, मिली खुशी

वाराणसी कार्यालय संवाददाता। मंडुवाडीह थानाक्षेत्र के बौलिया से 25 फरवरी की शाम लापता हुई बच्ची रविवार को अपने घर पहुंच गई। 27 फरवरी को उसे अलीनगर नहर के पास भटकते पाया गया और शिशु गृह को सौंप दिया गया। 27 फरवरी को ‘हिन्दुस्तान’ में छपी पुरानी तस्वीर के आधार पर शिशु गृह के समन्वयक ने उसे पहचाना और पुलिस को सूचना दी। बच्ची को वापस पाकर माता-पिता दुआएं देते रहे कि अखबार ने न सिर्फ बालिका की पहचान कराने में मदद की बल्कि खबर का ही असर रहा कि अपहर्ता उसे छोड़कर भाग गया।

हमारे विद्यापीठ ब्लाक प्रतिनिधि के अनुसार, मंडुवाडीह थानाक्षेत्र के बौलिया निवासी आटो चालक राधेश्याम गुप्ता की पांच वर्षीया बेटी महिमा 25 फरवरी की शाम घर के बाहर खेलते समय संदिग्ध हाल में लापता हो गई। परिवार ने काफी तलाश के बाद अगले दिन मंडुवाडीह पुलिस को सूचना दी। मासूम के गुम हो जाने के बाद परिजनों में कोहराम मचा था, आशंकाएं भी तमाम थीं। रविवार को मंडुवाडीह पुलिस से सूचना मिली कि बालिका मुगलसराय के कैलाशपुरी स्थित बाल शिशु गृह में है।

परिजन पहुंचे और बालिका को साथ ले आए। पता चला कि 27 फरवरी की दोपहर वह अलीनगर नहर के पास भटकती मिली थी। अलीनगर पुलिस ने उसे शिशु गृह को सौंप दिया। रविवार को समन्वयक अरविंद कुमार ने ‘हिन्दुस्तान’ में छपी तस्वीर देखकर पुलिस और जिला बाल कल्याण समिति को सूचना दी। इसके बाद मंडुवाडीह पुलिस से संपर्क किया गया और बच्ची माता-पिता के पास पहुंच गई। बच्ची ने बताया कि मोहल्ले में अक्सर आने वाले एक ‘अंकल’ उसे साथ ले गए थे।

हालांकि पहचान न बता पाने के कारण आरोपित की शिनाख्त नहीं हो पा रही है। पिता राधेश्याम बार-बार ‘हिन्दुस्तान’ का शुक्रिया अदा करते रहे। बोले कि बच्ची की सूचना प्रकाशित होने से उसकी पहचान तो हुई ही, अपहर्ता भी सतर्क हो गए और उसे छोड़कर भाग निकले। मां सुमन भी बिटिया को वापस पाकर गदगद हैं। इधर, क्षेत्र में बच्चा चोरों के सक्रिय होने की सूचना पर अभिभावकों में दहशत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘हिन्दुस्तान’ में छपी तस्वीर ने पहुंचाया घर, मिली खुशी