DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राईवेट चिकित्सक ने भी किया सांकेतिक हड़ताल

मिर्जापुर। वरिष्ठ संवाददाता। कानपुर के गणेश शंकर मेडिकल कालेज में छात्रों को हास्टल के कमरों से निकाल कर पिटाई के विरोध में जिले के निजी चिकित्सक भी रविवार को सांकेतिक हड़ताल पर रहे। चिकित्सकों ने ओपीडी बंद रखा और इमरजेंसी सेवाएं ठप नहीं की। निजी चिकित्सक आईएमए के अग्रिम आदेश का इंतजार कर रहे हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने रविवार से हड़ताल की घोषणा की थी। इसका असर जिले में भी आंशिक रूप से दिखा।

जिले में एसोसिएशन से जुड़े 50 निजी चिकित्सकों ने हड़ताल का समर्थन किया। एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष डा. सीपी सिंह ने बताया कि उनका हड़ताल को पूरा समर्थन है। अभी इमरजेंसी सेवाओं को इस लिए नहीं रोका गया है क्योंकि मिर्जापुर में चिकित्सकों की कमी है। इसलिए मरीजों को दिक्कतें हो सकती हैं। यदि एसोसिएशन कोई निर्णय लेता है तो उसका पूर्णरूप से पालन किया जाएगा। एसोसिएशन के सदस्य डा. नीरज त्रिपाठी ने भी संगठन के निर्णय को सर्व मान्य बताया।

कहा कि कानपुर की घटना से सभी दुखी हैं। यदि जरूरत पड़ी तो इमरजेंसी सेवा भी बंद की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्राईवेट चिकित्सक ने भी किया सांकेतिक हड़ताल