DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेकाबू ट्रक ने वकील व सब्जी विक्रेता को रौंदा

लखनऊ निज संवाददाता। ठाकुरगंज में बालागंज पुलिस चौकी के पास बेकाबू ट्रक (डीसीएम) ने सड़क किनारे पैदल जा रहे वकील बृजेश व उनके भतीजे आकाश को टक्कर मारी और फिर साइकिल सवार सब्जी विक्रेता को कुचल दिया।

इसके बाद ट्रक एक निजी क्लीनिक की दीवार से भिड़ गया। आनन-फानन में पुलिस मौके पर पहुंची और सभी घायलों को ट्रॉमा सेंटर ले गई। वहां सब्जी विक्रेता को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि बृजेश की भी कुछ ही देर में मौत हो गई।

पुलिस का कहना है कि ट्रक का स्टीयरिंग फेल होने से हादसा हुआ। पोस्टमार्टम के बाद बृजेश के परिवारीजनों ने बालागंज चौराहा पर कुछ समय तक शव रखकर प्रदर्शन किया। हरदोई में सुभाषनगर निवासी बृजेश कुमार सिंह (40) वकील थे।

उनकी ससुराल यहां बालागंज स्थित मालापुरम कॉलोनी में है। बृजेश का भतीजा आकाश सिंह यहां राम स्वरूप मेमोरियल इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेज का छात्र है। आकाश ने बताया कि उसकी तबियत कुछ खराब थी। चाचा बृजेश रविवार को उसका अल्ट्रासाउंड कराने के लिए लखनऊ आए थे।

कुछ देर तक ससुराल में रुकने के बाद बृजेश ने आकाश को चौराहे पर बुलाया। फिर चाचा-भतीजा पैदल ही चल दिए। दोनों बालागंज पुलिस चौकी के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से आ रहे ट्रक (यूके06सीए-1563) ने दोनों को टक्कर मारी और फिर आगे जा रहे साइकिल सवार सब्जी विक्रेता (60) को कुचल दिया।

इसके बाद बेकाबू ट्रक सड़क किनारे जैन क्लीनिक की दीवार से भिड़ गई। मौके पर भीड़ ने शुरू किया हंगामा दुर्घटना के बाद मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई और हंगामा शुरू कर दिया।

एसओ शशिकांत यादव भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। वह सभी घायलों को ट्रॉमा सेंटर ले गए। वहां सब्जी विक्रेता को मृत घोषित कर दिया गया। उधर, बृजेश की हालत नाजुक देख परिवारीजन उसे जानकीपुरम स्थित एक निजी अस्पताल ले जा रहे थे।

लेकिन उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। मामूली रूप से जख्मी आकाश को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई। बाद में आकाश की तहरीर पर पुलिस ने ट्रक ड्राइवर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।

नहीं हो सकी शव की शिनाख्तः साइकिल सवार वृद्ध के शव की शिनाख्त नहीं हो सकी है। मौके पर कुछ लोगों ने पुलिस को इतना बताया कि वृद्ध साइकिल पर सब्जियां लादकर फेरी पर बेचता था। उसके बदन पर हल्का गुलाबी रंग का कुर्ता, लाल-सफेद धारीदार टी-शर्ट, आसमानी रंग का हाफ स्वेटर, आसमानी रंग की चेकदार शर्ट और नीली चेकदार लुंगी थी।

मुआवजा और कार्रवाई के लिए प्रदर्शनः पोस्टमार्टम के बाद शाम को बृजेश के परिवारीजनों ने बालागंज चौराहा पर शव रख दिया और प्रदर्शन करने लगे। वह मुआवजा और कार्रवाई की मांग कर रहे थे। एसओ शशिकांत यादव ने प्रदर्शनकारियों को बताया कि ड्राइवर को हिरासत में लेने के साथ ही ट्रक को कब्जे में लिया गया है। मुआवजा दिलाने के लिए कार्रवाई की जा रही है। फिर 15 मिनट में ही प्रदर्शन खत्म हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेकाबू ट्रक ने वकील व सब्जी विक्रेता को रौंदा