DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजीनियर की हत्या के विरोध में निकाला गया मार्च

ग्रेटर नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता। शहर की हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉओपरेटवि सोसाइटी में रहने वाले इंजीनियर की करीब एक सप्ताह पहले हत्या कर दी गई थी। उसे गोली मारी गई। उसका शव सोसायटी के पास ही पड़ा मिला था। इस मामले में पुलिस अब तक कुछ नहीं कर सकी है। रविवार को सोसायटी के लोगों और इंजीनियर के रिश्तेदारों ने कैंडल मार्च निकाला।

ये लोग कासना कोतवाली पहुंचे और पुलिस से कार्रवाई की मांग की। वहीं एसएसपी ने इस मामले को क्राइम ब्रांच भेज दिया है। मूल रूप से पश्चिम बंगाल का रहने वाला इंजीनियर सुखेंद्र चक्रवर्ती ग्रेटर नोएडा की एनआईआईटी टेक्नोलॉजी कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था।

सुखेंद्र सेक्टर पाई-वन की एचपीसीएल सोसाइटी में रहता था। बीते दिनों उसका शव सोसाइटी के सामने पड़ा मिला था। उसे गोली मारी गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी इसी कारण हत्या होना बताया है। वहीं दूसरी ओर कासना पुलिस ने बताया कि घटनास्थल पर खून नहीं मिला है।

सुखेंद्र ने आखिरी बार अपने मोबाइल से उस दिन शाम करीब सात बजे किसी से बात की। उसके मोबाइल की लोकेशन दिल्ली में थी। ऐसे में लगता है कि सुखेंद्र को कहीं ओर मारकर यहां फेंक दिया गया था। जबकि सुखेंद्र के फ्लैट में उसका लैपटॉप चला पाया गया था।

ऐसे में कई सवाल खड़े हो गए। सुखेंद्र के पड़ोसियों और रिश्तेदारों में पुलिस के रवैये के प्रति रोष था। इन लोगों ने हत्या और पुलिस की कार्य प्रणाली के विरोध में रविवार की शाम सोसाइटी से कासना कोतवाली तक मार्च निकाला।

लोगों का कहना था कि पुलिस ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज करने के बाद आगे की कोई कार्यवाही नहीं की है। इंजीनियर को न्याय मिलना चाहिए। मं इस प्रकरण को अब व्यक्तिगत रूप से देखूंगा। यह मामला क्राइम ब्रांच को दिया जाएगा।

एक अतिरिक्त पुलिस टीम भी लगाई जाएगी। हर हाल में खुलासा किया जाएगा। अगर जांच कर रहे पुलिस वालों ने सही ढंग से काम नहीं किया है तो उनके खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की जाएगी। - डा.प्रीतिंदर सिंह, एसएसपी, गौतमबुद्ध नगर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंजीनियर की हत्या के विरोध में निकाला गया मार्च