DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जगन्नाथ मंदिर में स्नान यात्रा कल

ागन्नाथपुर मंदिर में 18 जून को भगवान की स्नान यात्रा होगी। इसके बाद 15 दिन तक भगवान अज्ञातवास में चले जायेंगे। तीन जुलाई को नेत्रदान के बाद दर्शन सर्वसुलभ होंगे। 18 जून को एक बजे से स्नान यात्रा का अनुष्ठान होगा। प्रधान पुजारी जगदीश मोहंती के अनुसार प्रारंभिक पूजा के बाद प्रथम आरती होगी। इसके बाद 51 कलश में बौरफूल, हल्दी, गोड़ावाच, अश्वगंधा, इलाइची और अन्य औषधियों के मिश्रित जल से भगवान के विग्रहों को महास्नान कराया जायेगा। आरती के बाद विशेष भोग लगाया जायेगा। इसके बाद जगन्नाथष्टकम और गीता का द्वादश अध्याय का पाठ होगा। इसके बाद भक्त भगवान की प्रतिमाओं का स्नान करायेंगे। इसके बाद सभी विग्रहों को गर्भगृह में स्थापित कर दिया जायेगा। तीन जुलाई को नेत्रदान के बाद शाम पांच बजे दर्शन सर्वसुलभ होंगे।ड्ढr मेले की तैयारी शुरूड्ढr जगन्नाथपुर मेले की तैयारी शुरू हो गयी है। मेले में स्टॉल लगाने के लिए स्थान की बुकिंग शुरू हो गयी है। भगवान के रथ को संवारने का काम शुरू कर दिया गया है। मेले में बिजली चालित झूले, सर्कस, मौत का कुंआ आकर्षण का केंद्र होंगे।ड्ढr उधर रथ मेला सुरक्षा समिति ने नगर निगम और जिला प्रशासन से सफाई काम शुरू करने का आग्रह प्रशासन से किया है।गुरु अजरुनदेव जी के शहीदी दिवस पर कीर्तन का आयोजनड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जगन्नाथ मंदिर में स्नान यात्रा कल