DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ड्रीमलाइनर समस्या: बोइंग पेश कर सकती है नई कार्ययोजना

ड्रीमलाइनर समस्या: बोइंग पेश कर सकती है नई कार्ययोजना

विमान बनाने वाली अमेरिकी कंपनी बोइंग, एयर इंडिया द्वारा खरीदे गये ड्रीमलाइनर में आ रही बार-बार की समस्या के समाधान के लिये समयबद्ध कार्ययोजना इस सप्ताह विमान नियामक डीजीसीए को पेश कर सकती है।
   
आधिकारिक सूत्रों ने आज कहा कि बोइंग 787 ड्रीमलाइनर विमानों में लगातार तकनीकी खामी को लेकर दो दिन पहले नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के कड़े रुख के बाद विमान बनाने वाली अमेरिकी कंपनी अपनी योजना पेश करेगी। 
   
एयर इंडिया ने कुल 27 विमानों का आर्डर दिया हुआ है जिसमें से उसके बेड़े में अभी 12 ड्रीमलाइनर विमान हैं। सूत्रों ने कहा कि बोइंग अधिकारियों के एक दल को स्पष्ट रूप से कह दिया गया है कि अगर विमानों में आ रही खराबी को निश्चित समयावधि में संतोषजनक रूप से दूर नहीं किया जाता है तो डीजीसीए विमान सुरक्षा को लेकर कोई भी कदम उठा सकता है।
   
दो साल पहले ड्रीमलाइनर को बेड़े में शामिल किये जाने के बाद एयर इंडिया को इन विमानों में 44 तकनीकी खामियां मिली हैं। इस बारे में कुछ सप्ताह पहले संसद को भी सूचित किया गया है। डीजीसीए ने बोइंग के दल से समस्याओं के निपटान के लिये समयबद्ध कार्ययोजना पेश करने को कहा है।
   
अमेरिकी नियामक फेडरल एविएशन एड़मिनिस्ट्रेशन ने भारत की विमानन सुरक्षा रैंकिंग श्रेणी एक से घटाकर दो कर दिया है। इस कदम के बाद भारतीय नियामक ने यह कदम उठाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ड्रीमलाइनर समस्या: बोइंग पेश कर सकती है नई कार्ययोजना