DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारिश ने बिगाड़ी शहर की सूरत

बोकारो प्रतिनिधि। दो दिनों से लगातार हो रही बारिश से शहर के हाट-बाजारों की सूरत बिगड़ गई है। शनिवार को भी पूरी तरह से जन-जीवन अस्तव्यस्त रहा। पक्की सड़कों पर भी बारिश का पानी कई जगहों पर जमा हो गया है।

सड़क किनारे पानी और कीचड़ जमा हो जाने से सड़क के किनारे वाहन उतारनेवालों को परेशानी हो रही है। साइकिल और मोटरसाइकिल चलानेवालों को दिक्कत हो रही है।

शहर के प्रमुख हाट दुंदीबाजार में लोगों को चलने में भी परेशानी हो रही है। पूरा बाजार कीचड़ से बजबजा गया है। सुबह से लगातार हो रही बारिश के कारण कई लोग घरों से नहीं निकल पाए।

सीबीएसई और इंटर की परीक्षा में शामिल होनेवाले परीक्षार्थी मुश्किल से परीक्षा केंद्र तक पहुंच सके। नया मोड़ बस पड़ाव की स्थिति काफी खराब हो गई थी। बारिश के कारण लोगों की भीड़ पड़ाव पर नहीं थी। ठीक उसी तरह रेलवे स्टेशन का हाल रहा।

रेलवे स्टेशन पर लोगों की भीड़ अपेक्षा से कम दिखी। 13 एमएम हुई बारिश, तापमान न्यूनतम 15 डिग्रीदो दिनों से हो रही बारिश का रिकॉर्ड 13 एमएम दर्ज किया गया है। सुबह से लेकर दोपहर तक झमाझम बारिश होती रही। उसके बाद बारिश दिन भर रुक-रुककर होती रही।

तापमान न्यूनतम 15 और अधिकतम 20 डिग्री पर रहा। बारिश के कारण लोगों की भीड़ सड़कों पर नहीं थी। बोकारो स्टील प्लांट के कर्मचारी बरसाती पहनकर डयूटी पर गए। अहले सुबह बारिश तेज होने के कारण साइकिल से डयूटी जानेवालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

आलू को नुकसान, गेंहू को फायदालगातार हो रही बारिश से आलू की फसल को नुकसान हुआ है जबकि गेहूं की फसल को इसका फायदा पहुंचा है। जिला कृषि पदाधिकारी पारसनाथ उरांव ने बताया कि बारिश में हरी साक-सब्जी, आलू, टमाटर, गोभी सहित अन्य फसलों को नुकसान पहुंचा है।

परीक्षार्थियों को भारी परेशानीः बारिश के कारण शनिवार को सीबीएसई, इंटर की परीक्षा देनेवाले छात्रों को भारी परेशानी का सामना करते हुए सेंटर तक पहुंचना पड़ा। बच्चों के साथ उनके अभिभावक भींगते हुए परीक्षा केंद्र पहुंचे।

केंद्र के बाहर बारिश से बचने के लिए लोगों को फुटपाथ का सहारा लेना पड़ा। सुबह में केंद्र जाते समय और परीक्षा देकर केंद्र से निकलते हुए यह दृश्य दिखा। बाजारों में पसरा रहा सन्नाटाबारिश के कारण शहर के बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा।

सिटी सेंटर, दुंदीबाजार में एक-दो ग्राहक ही नजर आए जबकि चास का बाईपास रोड और मेन रोड में लोगों की भीड़ नहीं दिखी। बाजार में लोग बारिश के कारण नहीं निकल पाए। शाम को बारिश ने थोड़ी रातह दी, कुछ भीड़ बाजार में जमा हुई।

वह भी जल्द सामान लेकर घर निकल गए। बाजार में दिन करो किसी फुटपाथ दुकानदारों ने अपनी दुकान नहीं खोली। चाय की दुकान पर लोगों की भीड़ लगी। शहर में प्रतिदिन काम की तलाश में पहुंचनेवाले मजदूर भी नहीं पहुंचे। जिला समाराहणालय और जिला कोर्ट में भी भीड़ नहीं दिखी।

एनएच पर चलना मुश्किलशहर से गुजरने एनएच 23 पर लोगों को चलने में काफी कठिनाइयों का समाना करना पड़ा। सड़क के दोनों ओर डाली गई मिट्टी कीचड़ में तब्दील हो गई।

बड़े वाहनों से किनारे लेने के चक्कर मे कई लोग कीचड़ में फंस गए। स्थिति ऐसी हो गई है कि सड़क के किनारे लोग उतरना नहीं चाह रहे हैं। यह स्थिति नयामोड़ से बालीडीह तक देखने को मिली।

बारिश ने बढ़ा दी ठंडलगातार हो रही बारिश ने ठंड बढ़ा दी है। जो लोग घरों में गर्म कपड़े रख चुके थे उन्हें फिर से निकालने पड़े। ठंड से बचने की सलाहमुस्कान अस्पताल के चिकित्सक डॉ इरफान अंसारी ने बताया कि मौसम के बदलने से लोगों में एलर्जी बढ़ने की संभावना रहती है।

लोगों को सर्दी, खासी और बुखार भी हो सकता है। इसलिए बारिश न भींगें। मौसम में नमी आ जाने से हार्ट और बीपी के मरीजों को भी सावधानी से रहने की जरूरत है। खासकर बच्चों को ठंड और बारिश दोनों से बचाने की जरूरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बारिश ने बिगाड़ी शहर की सूरत