अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी की हालत हुई नारकीय

दो दिनों की बारिश ने ही कंकड़बाग समेत पूर शहर की स्थिति नारकीय कर दी। कूड़े-कचर के ढेर बजबजाने गले हैं। सड़कें कीचड़ से सन गई हैं। फिसलन ऐसी कि अत्यधिक सावधानी नहीं बरतें तो सही-सलामत घर वापस नहीं पहुंचेंगे। कंकड़बाग की स्थिति सबसे अधिक खराब है। इस इलाके में सोमवार को कीचड़ भरी सड़क पर फिसलकर दर्जनों लोग गिर गये।ड्ढr ड्ढr बच्चे, महिलाएं और वृद्ध घर में ही कैद होकर रहने के लिए मजबूर हैं। कंकड़बाग टेम्पो स्टैंड से योगीपुरसंप तक सड़क पर दो इंच से ऊपर कीचड़ है। वैसे इस इलाके का शायद ही कोई ऐसी सड़क हो जिससे आप सुरक्षित गुजर जायें।ड्ढr कहीं खुले मैनहोल तो कहीं नाला निर्माण व सड़क चौड़ीकरण के नाम पर खोदे गये गड्ढों में भरा पानी दुर्घटना को मूक आमंत्रण दे रहा है। कंकड़बाग के तमाम मुहल्लों में पिछले दो दिनों से कूड़े का उठाव नहीं हुआ है। पानी के साथ कूड़े बहकर सड़क पर फैल गये हैं। कूड़े के ढेर से निकलने वाले दुगर्ंध के कारण लोग नाक पर रुमाल रखकर सड़क पर चल रहे हैं। एक्ाीबिशन रोड, श्रीकृष्णानगर, आनंदपुरी गैस गोदाम के निकट, बोरिंग कैनाल रोड के पंचमुखी हनुमान मंदिर से श्रीकृष्णानगर जाने वाली सड़क पर, नागेश्वर कॉलोनी, बिस्कोमान के निकट, यातायात थाना के निकट कूड़ा केंद्र के आसपास, जनक किशोर रोड, लोहानीपुर, शिवपुरी में रलवे लाइन के पास व महेशनगर समेत अन्य स्थानों पर कूड़े बजबजा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजधानी की हालत हुई नारकीय