DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोजपा के इकलौते विधायक जदयू में हुए शामिल

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। भाजपा से गठबंधन पर बगावत करने वाले लोजपा के इकलौते विधायक जाकिर हुसैन खान ने शनिवार को जदयू की सदस्यता ग्रहण कर ली। प्रदेश कार्यालय में जदयू सांसद सह प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रमई राम, सांसद आरसीपी सिंह सहित अन्य नेताओं की मौजूदगी में जदयू में शामिल हुए। जाकिर हुसैन के अररिया लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावना है। हालांकि, जदयू अध्यक्ष ने इस सवाल पर इतना भर कहा कि अभी उम्मीदवारों की घोषणा नहीं हुई है।

पार्टी सभी संभावनाओं को देखने के बाद ही उम्मीदवारों का चयन करेगी। कहा कि अब लोजपा माइनस हो गई है। बिहार विधान मंडल में लोजपा कहीं नहीं है। लोजपा विधायक के जदयू में आने से पार्टी को लाभ होगा। जदयू का दामन थामने वाले विधायक जाकिर ने लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान को मौकापरस्त नेता बताया। साथ ही यह संगीन आरोप भी लगाया कि लोजपा-भाजपा गठबंधन के लिए मुंबई में 50 करोड़ की डील हुई है। पैसे के बल पर हुए इस गठबंधन में लोजपा से अधिक पार्टी नेता के परिवार को लाभ होगा।

पैसे के कारण ही लोजपा सांप्रदायिक शक्तियों की गोद में चली गई। एक सवाल पर विधायक ने कहा कि संसदीय बोर्ड की बैठक में ही लोजपा-भाजपा गठबंधन का विरोध किया था। लोजपा ने भाजपा से गठबंधन कर यह जता दिया है कि इसके नेता आर्थिक सौदागर हैं।

मिलन समारोह में सत्तारूढ़ दल के मुख्य सचेतक श्रवण कुमार, बिहार राज्य नागरिक परिषद के महासचवि छोटू सिंह, शैलेंद्र प्रताप, डॉ. नवीन कुमार आर्य, जितेंद्र यादव सहित अन्य नेता मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोजपा के इकलौते विधायक जदयू में हुए शामिल