DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगाई और भ्रष्टाचार से त्रस्त है जनता

गया निज संवाददाता। केन्द्र सरकार की नीतियों के कारण आज महंगाई और भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। आम जनता इससे त्रस्त है और सरकार अमेरिकी और कारपोरेट की नीति पर चलाई जा रही है जिसके विरोध के लिए संघों को एकजूट होना होगा। यह बातें ऑल इंडिया म्यूनिसिपल वर्कर्स फेडरेशन के प्रथम राष्ट्रीय महासंघ के खुले सत्र को संबोधित करते हुए खेमस के राष्ट्रीय सचवि सह भाकपा माले के पूर्व सांसद रामेश्वर प्रसाद ने कहा। श्री प्रसाद ने कहा कि सरकार और विरोधी दल दोनो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

हमें अपने संगठन का जाल पूरे देश में फैलाना है और इन्ही जाल में दबोच कर ऐसी सरकार को समूद्र में डुबोना है। उन्होंने कहा आज देश में बेरोजगारी से युवा वर्ग परेशान हैं और सरकार ठेके पर बहाली कर रही है जिसमें वेतन कम और काम अधिक लेने पर जोर दिया जा रहा है। श्री प्रसाद ने कर्मियों की रिटायरमेंट की उम्र सीमा को बढ़ाने से बेरोजगार में बढ़ोतरी की बात कही। उन्होंने कहा कि निजीकरण एवं वैश्यीकरण की नीति साम्राज्यवादी मूल्कों से आयातित है जिसका खामियाजा देश की आम जनता भुगत रही है।

खुले सत्र को मुम्बई महानगर पालिका कर्मचारी संघ के नेता धीरज राठौर, छतीसगढ़ सफाई कर्मचारी संघ के नेता जे. पी. नायर, गोपगुट के महासचवि रामबल प्रसाद, बैँक इम्पलाईज फेडरेशन के उपमहासचिव पी. एन. सिंह, बिहार राज्य भूमि सुधार कर्मचारी संघ के महासचिव कान्ति कुमार सिंह, असंगठित कामगार महासंघ के महासचिव चन्द्र किशोर प्रसाद, बिहार शिक्षा परियोजना संघ के महासचिव शिवशंकर आदि ने भी संबोधित किया। खुले सत्र की अध्यक्षता तथा सम्मेलन का झंडोतोलन बिहार राज्य स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ के महासचवि श्यामलाल प्रसाद ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महंगाई और भ्रष्टाचार से त्रस्त है जनता