अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डाक्टरों की कुर्की करने से हिचक रही पुलिस !

पटना पुलिस पत्रकारों पर जानलेवा हमले में शामिल पीएमसीएच के नामजद जूनियर डाक्टरों की संपत्ति कुर्क करने में हिचक रही है। पुलिस इस मामले में हमेशा बैकफुट पर दिखी। दिखावे के लिए पुलिस बिहार तथा अन्य राज्यों में डाक्टरों को गिरफ्तार करने के नाम पर चहल कदमी कर बैरंग लौट आई। इस घटना को लेकर पुलिस बराबर कन्फ्यूज्ड दिखती है।ड्ढr पुलिस के आला अधिकारी कभी कहते हैं कि सभी पुलिस टीम वापस लौट आई तो कभी दो टीम वापस ही नहीं हुई है। बहरहाल असलियत जो भी हो पर लोगों को तो इस बात का अंदाजा लग ही गया है कि इस पूर प्रकरण में पुलिस का रवैया लचर ही रहा है। भले ही पुलिस डाक्टरों की गिरफ्तारी को लेकर लाख दावे प्रस्तुत कर।ड्ढr ड्ढr सोमवार को लगभग तय माना जा रहा था कि पुलिस न्यायालय में नामजद डाक्टरों की गिरफ्तारी नहीं होने से उनकी संपत्ति की कुर्की के लिए अपील करगी। पर एक फिर पुलिस बैकफुट पर चली गई और तुर्रा यह दिया गया कि दो टीम अभी लौटी नहीं है। सिटी एसपी अनवर हुसैन ने बताया कि दो टीमों के वापस होने के बाद ही पुलिस कुर्की जब्ती के लिए कोर्ट में अपील करगी। हालांकि दो दिन पहले पटना पुलिस के ही एक वरीय अधिकारी ने कहा था कि सभी टीम लौट चुकी है। लाख टके का सवाल यह है कि आखिर पुलिस सही मायने में इस घटना में शामिल लोगों को दबोचने या कुर्की जब्ती करने के लिए पूरी तरह तैयार है या फिर इसे लीपापोती करने के मूड में है। बहरहाल पीड़ितों, मरीाों तथा उनके परिानों की निगाहें पटना पुलिस की ओर टकटकी लगाए हुए हैं कि क्या पुलिस अपने प्रयास से उन्हें न्याय दिला पाएगी ?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डाक्टरों की कुर्की करने से हिचक रही पुलिस !