DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएमएस के जरिये मांगी जा रही थी फिरौती

मुजफ्फरपुर। वसं। अनाज व्यापारी हृदय नारायण झा उर्फ मंटू झा को अगवा करने वाला गिरोह बेहद शातिर निकला। पहली बार डेढ़ करोड़ की फिरौती मांगने के बाद गिरोह अपहृत के परिजनों से बातचीत करने से परहेज कर रहा था। मोबाइल पर बात करने के बजाय अपराधियों ने एसएमएस का सहारा लिया।

गुरुवार रात एक बजे तक परिजनों को एसएमएस करके फिरौती की रकम किस जगह पहुंचानी है, इसका निर्देश गिरोह दे रहा था। अपराधियों ने अपहृत के मोबाइल से ही परिजनों से फिरौती की मांग करके पुलिस की पकड़ से बचने का प्रयास किया।

उसी के मोबाइल से एसएमएस करने के बाद सेट स्विच ऑफ कर लिया जाता था। ऐसी संभावना बन रही है कि गुरुवार रात एक से तीन बजे के बीच अपराधियों ने मंटू झा की हत्या की। उसके अपहरण को लेकर किसी खास गिरोह का अब तक नाम सामने नहीं आ सका है। वैसे पुलिस का दावा है कि जल्द ही पूरे गिरोह का खुलासा कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसएमएस के जरिये मांगी जा रही थी फिरौती