DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौसम की अगड़ाई ने तोड़ी किसान की कमर

 रूनकता। बारिस ने किसान की कमर तो तोड़ी साथ ही तेज हवाओ ने किसानो को भुखमरी के कगार पर खड़ा कर दिया है। लगातार वारिस से आलू सड़ने के कगार पर पहुँच गया है। बची कसर तेज हवाओ ने कर दी है। किरावली तहसील के गाँवो मे लगातार वारिस से आलू की फॅसल तो पूरी तरह सड़ने के कगार पर पहुँच गयी है। पहली लगातार वारिस के कारण आलू मे रोग तो लग गया था लेकिन अब बैमोसम वारिस के चलते आलू की फसल पूरी तरह सड़ने के कगार पर है।

तो दूसरी ओर तेज हवाओ के कारण गैँहू व सरसो की फसल पूरी तरह खेत मे सो गयी है। किसानो ने बताया कि आलू की सत्तर प्रतिशत खुदाई हो जाती लेकिन लगातार वारिस के चलते खुदाई नही हो पा रही है। अबकी बार तेज वारिस के चलते अब खुदाई नही हो पा रही है जिससे आलू की फसल सड़ने के कगार पर है। तेज हवाओ से गैंहू खेत मे ही सो गया है जिससे गैहू का दाना काफी हल्का हा ेजायेगा और पैदावारी भी कम होगी साथ ही पशुओ के लिए चारा का भी संकट का दौर है।

किसान पूरी तरह बर्बादी के कगार पर है। जसंहतेन्द्र निो प्रसाशन से मुआबजे की मांग की है। किसानो मे मांग करने वालो मे वीके नरवार भिलावटी ग्राम प्रधान जितेन्द्र सिंह देवकी नन्दन कुशनपाल चौधरी यशपाल सहि चौधरी ईन्द्र सिंह बच्चाू सहिं विजय वर्मा गोविन्द सिंह मोहन सिंह भगवानदास पाठक आदि है। फोटो। 1- तेज हवा के कारण खेत मे विछी गैंहू की फसल। 2- वारिस के चलते आलू के खेत न सूखने के कारण सड़न के कगार पर आलू की फसल।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मौसम की अगड़ाई ने तोड़ी किसान की कमर