DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरक्षण नियमों में बदलाव की जरूरत

लखनऊ। आरक्षण पर हमेशा से ही बहस चलती रही है लेकिन आरक्षण का लाभ अब भी जरूरतमंद तबके तक नहीं पहुंच पा रहा है। वर्तमान में जिन जातियों को आरक्षण का लाभ मिल रहा है उनमें एक तबका पहले से ही संपन्न हैं। आरक्षण का लाभ लेकर यह तबका और आगे बढ़ गया लेकिन उसी जाति के दूसरे तबके तक आरक्षण का लाभ पहुंचा ही नहीं। इसीलिए अब आरक्षण नियमों में व्यापक बदलाव की जरूरत है। यह कहना है बीएचयू के पूर्व अध्यक्ष कमलाकर त्रिपाठी का।

वह ‘आरक्षण का पुनर्मूल्यांकन’ विषय पर शनिवार को राय उमानाथ बली प्रेक्षागृह में हुई संगोष्ठी में बोल रहे थे। रिटायर आईपीएस दादा पुरी ने भी आरक्षण नियमों में बदलाव की जरूरत पर अपना पक्ष रखा। नसिं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आरक्षण नियमों में बदलाव की जरूरत