DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आने वाले दिनों में प्रदूषण होगी बड़ी समस्या

गाजियाबाद। वरिष्ठ संवाददाता। हिन्दुस्तान चाय चौपाल में शहर में बढ़ रहे प्रदूषण का मुद्दा भी गूंजा। आरडब्ल्यूए फेडरेशन के चेयरमैन कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने बताया कि गाजियाबाद वशि्व के पांच शहरों में शामिल गया है। इनमें सबसे ज्यादा वायू प्रदूषण है। आज अपने शहर में हम जो सांस ले रहे हैं वह जहरीली है। ग्लोबल बर्डन डिसीज के सर्वे के अनुसार भारत में वायू प्रदूषण से मरने वालों की संख्या एक लाख से छह लाख तक पहुंच चुकी है। अब वायू प्रदूषण केवल सांस की बीमारी तक नहीं बल्कि कैंसर के लिए भी जिम्मेदार है।

इसके लिए हमारे नेता व जनता को सोचने की जरूरत है। हमारे नेता चुनाव के दौरान वोट मांगने तो आ जाते हैं लेकिन वह शहर की आवो हवा पर कोई ध्यान नहीं देते। ऐसा भी हो सकता है कि आने वो समय में यह समस्या सबसे बड़ी समस्या के रूप में उभरे। आने वाले कल व पीढिम्यों के लिए हमे इसके लिए अभी सोचना होगा। शहर के इस मुद्दे पर किसी को कोई ध्यान नहीं है। यदि इस मुद्दे को छोड़ दिया गया तो आने वाले समय में यह सबसे खतरनाक समस्या होगी।

किसी नेता के पास इस समस्या को कोई ध्यान देने का समय नहीं है। इसके लिए नई योजनाएं बनाने की जरूरत है। जनप्रतिनिधियों को चाहिए कि शहर में बढ़े रहे इस प्रदूषण के लिए कोई योजना तैयार करे। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने की योजना बनानी होगी। लगातार बढ़ रहे कांक्रीट के जंगलों पर अंकुश लगाना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आने वाले दिनों में प्रदूषण होगी बड़ी समस्या