DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिक्शा चालकों से मिले राहुल, सुनी तकलीफे और समस्याएं

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के दो दिवसीय दौरे के अंतिम दिन शनिवार को वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन पर रिक्शा चालकों से बातचीत की और उनसे सहानुभूति जताते हुए कहा कि आपकी कठिनाईयों को साझा करने के लिए यदि जरुरत पडी तो वे एक दिन रिक्शा चलाने को भी तैयार हूं।
     
कैंट रेलवे स्टेशन पर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार उनसे मिलने पहुंचे सैंकड़ों रिक्शा चालकों से उनकी तकलीफों और समस्याओं को सुनते हुए राहुल ने कहा, आपकी तकलीफों को साझा करने के लिए मैं एक दिन के लिए रिक्शा चलाने को भी तैयार हूं।
     
उनसे मिलने के लिए एक दिन की रोजी कुर्बान करने के लिए रिक्शा चालकों को धन्यवाद देते हुए राहुल ने कहा, मैं आप सब लोग अपनी दिन भर की कमाई छोड कर मुझसे मिलने के लिए आये, मेरी बात सुनी, मैं इसे याद रखूंगा। मैं यह आश्वासन देता हूं कि आपकी कठिनाईयों को दूर करने, आपका जीवन स्तर बेहतर करने तथा सम्मान के साथ जीवन जीने का अवसर उपलब्ध कराने के लिए मैं अपनी तरफ से हरसंभव कोशिश करुंगा।
     
रिक्शा चालकों के साथ संवाद के पीछे अपने मकसद को बताते हुए राहुल ने कहा, मैं आप सबसे कांग्रेस पार्टी के चुनाव घोषणापत्र पर चर्चा के लिए यहां आया हूं और आपने अपनी समस्याओं के बारे में जो बाते हमें बतायी और उन्हें दूर करने के लिए जो सुझाव दिये उन्हें पार्टी के घोषणा पत्र में शामिल किया जायेगा।
     
उन्होंने कहा कि पहले पार्टी के नेताओं द्वारा तैयार किये जाने वाला चुनाव घोषणापत्र अब आप सबकी राय से तैयार किया जायेगा। राहुल के साथ बातचीत में रिक्शा चालकों ने अपनी समस्याएं बताते हुए कहा कि उन्हें रोज प्रताडित होना पडता है, पुलिस परेशान करती है और यहां तक कि आज उनसे मिलने रेलवे स्टेशन पहुंचने के लिए कईयों को पुलिस जवानों के हथेली गरम करनी पडी।
     
रिक्शा चालकों ने राहुल को यह भी बताया कि किस तरह रिक्शे खडे करने को लेकर पुलिस लाठियां फटकारती है। कई बार पहिए से हवा निकाल देती है और कैसे उनसे वसूली करती है। राहुल ने कहा, केन्द्र सरकार की तरफ से गरीबों के लिए चलायी जाने वाली तमाम योजनाएं आंध्र प्रदेश, केरल, महाराष्ट्र में दिखाई पडती हैं। उन राज्यों में प्राइमरी स्कूल अच्छी तरह चल रहे है। मगर वे योजनाएं उत्तर प्रदेश में फेल हो जाती हैं। केन्द्र सरकार की योजनाएं उत्तर प्रदेश में गरीबों तक पहुंच नहीं पातीं।
     
रिक्शे वालों से ही मिलने पहुंचे राहुल बहुत कम रिक्शे वालों से मिल पाये क्योंकि अव्यवस्था की वजह से तमाम रिक्शे वाले भी उस जगह पहुंच नहीं पाये जहां उनसे और राहुल के मिलने का कार्यक्रम तय था। मीडिया के लिए तो प्रवेश ही वर्जित था।
     
स्थानीय कांग्रेस नेता सतीश राय ने बाद में बताया कि कार्यक्रम में परिवर्तन हो जाने और जगह की कमी के कारण अनेक रिक्शा चालक अपनी बात कहने राहुल तक पहुंच नहीं पाये। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने शहर के इस दौरे के दौरान काशी विश्वनाथ मंदिर भी गये और वहां पूजा अर्चना की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिक्शा चालकों से मिले राहुल, सुनी तकलीफे और समस्याएं