DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रूस के पदक विजेताओं को मिली लकजरी कारें

रूस के पदक विजेताओं को मिली लकजरी कारें

रूस ने हाल में संपन्न हुए सोच्चि शीतकालीन ओलंपिक खेलों में देश को पदक तालिका में नंबर वन बनाने वाले एथलीटों को लकजरी एसयूवी कारें देकर सम्मानित किया है।
       
रूस ने इन खेलों में 13 स्वर्ण सहित 33 पदक जीतकर पहला स्थान हासिल किया। प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव ने गुरुवार को क्रेमलिन के करीब आयोजित एक अभिनंदन समारोह में पदक विजेता खिलाड़ियों को लकजरी एसयूवी कारें देकर सम्मानित किया।
       
इस अवसर पर मेदवेदेव ने कहा कि समकालीन इतिहास में सोच्चि ओलंपिक जैसा कोई दूसरा मौका नहीं है जिसने हमारे देश को और हमारे लोगों को जोड़ने का काम किया है। हमारे हमें यह सम्मान दिया है। आपने आम दिनों में यह काम नहीं किया है बल्कि ऐसे वकत किया है जबकि देश में ओलंपिक हो रहे थे।
       
रूस ने रविवार को समाप्त हुए सोच्चि ओलंपिक में 13 स्वर्ण, 11 रजत और नौ कांस्य पदक जीते। राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने इस खेलों को सफल बनाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। पुतिन इस बहाने दुनिया को देश की आधुनिक छवि से अवगत कराना चाहते थे जिसमें वह काफी हद तक सफल रहे। 

पिछले सप्ताह पुतिन ने पदक विजेता खिलाड़ियों को आधिकारिक तौर पर सम्मानित करते हुए कहा कि देश के एथलीटों ने अपना मिशन पूरा कर लिया है। पदक विजेता खिलाड़ियों को रूस के ओलंपिक एथलीट्स सपोर्ट फंड से कारें मुहैया कराई गई हैं। इस संस्था के अध्यक्ष मेदवेदेव हैं और कई वरिष्ठ अधिकारी और अरबपति लोग इसके बोर्ड में सदस्य हैं।
      
इससे पहले 2006 में ट्यूरिन ओलंपिक में पदक जीतने वाले रूसी एथलीटों को टोयोटा और लेकसस कारें दी गई थी जबकि 2010 के वेंकूवर ओलंपिक के पदक विजेताओं को इनाम के रूप में ऑडी कार दी गई थी।
      
सोच्चि ओलंपिक की अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के अधिकारियों ने प्रशंसा की थी। इन खेलों के दौरान आतंकी हमलों की आशंका जताई गई थी लेकिन रूस इन खेलों को निर्विघन संपन्न कराने में सफल रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रूस के पदक विजेताओं को मिली लकजरी कारें