DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिर ये चुनाव क्यों? आइए चर्चा करें

आखिर ये चुनाव क्यों? आइए चर्चा करें

चुनाव की घोषणा होने को है। अखबारों और टीवी चैनल्स पर सियासी पार्टियों के दांव-प्रतिदांव/घात-प्रतिघात उफान पर हैं। शोरशराबा इतना की वो असली सवाल ही गुम हो जाएं, जिन्हें हम उठाना चाहते हैं। जिनके जवाब हम अपने नेताओं से पूछना चाहते हैं। बस ऐसे ही सवालों को उठाने और उन पर सार्थक चर्चा करने का अभियान आज से ‘हिन्दुस्तान’ शुरू करने जा रहा है।

आओ राजनीति करें, मारो वोट की चोट की दस्तक आप तक पहुंच ही चुकी है। आपसे रूबरू होने के इस अभियान का ही हिस्सा है,  आज से शुरू होने वाली ‘हिन्दुस्तान’ चाय चौपाल। यह एक पूरी  श्रृंखला है, जो ‘हिन्दुस्तान’ के सभी संस्करणों में अलग-अलग चरणों में आयोजित होगी। आज इसमें आपके क्षेत्र की चुनिंदा हस्तियां शामिल हो रही हैं। वे विचार रखेंगी। वाद करेंगी। विवाद करेंगी। सुझाव देंगी। आपकी आवाज को उठाएंगी और ‘हिन्दुस्तान’ इसी आवाज को अगले दिन आपके सामने अखबार में पेश करेगा।
 
नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव और फरीदाबाद में भी यह आयोजन किए जा रहे हैं। यहां अपने-अपने क्षेत्रों के गणमान्य लोगों को निमंत्रित किया गया है।

इस तरह यह आयोजन भले ही ‘हिन्दुस्तान’ के दफ्तर में हो, पर इस आयोजन का संदेश आप सब तक जाएगा। ‘हिन्दुस्तान’ चाय चौपाल के आयोजन में हर उस वर्ग की बात सुनने के लिए, आवाज उठाने के लिए है, जिसकी आने वाले चुनाव में अहम भूमिका है। चौपाल युवाओं के लिए भी सजेगी। महिलाओं के लिए भी। कामगारों, शिक्षकों, कलाकारों के लिए भी। मुस्लिम और दलितों के लिए भी और समाज के हर उस वर्ग के लिए भी जो देश में परिवर्तन की बाट जोह रहा है।

यह जरूर है कि सिर्फ चुनिंदा लोग ही अखबार के दफ्तरों में आयोजित ‘हिन्दुस्तान’ चाय चौपाल में सीधे भाग ले सकेंगे। पर आपकी राय जानने के दरवाजे और भी हैं। 2014 में होने वाला लोकसभा चुनाव आखिर क्यों? इस सवाल पर अगर चौपाल में बैठे लोग चर्चा कर सकते हैं तो आप भी चाहें तो ट्विटर, फेसबुक के निम्न लिन्क पर जाकर अपनी राय दे सकते हैं। बहस मुबाहसा कर सकते हैं। आपकी राय या बहस को भी हम ‘हिन्दुस्तान’ में स्थान देंगे।

http://www.facebook.com/aaorajneetikarein
www.twitter.com/aaorajnitikaren

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आखिर ये चुनाव क्यों? आइए चर्चा करें