DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हम 25-30 रन और बना सकते थे : कोहली

हम 25-30 रन और बना सकते थे : कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ एशिया कप में हार के लिए ओस को जिम्मेदार ठहराया लेकिन साथ ही कहा कि यदि उनके बल्लेबाजों ने चतुराई दिखायी होती और 25-30 रन और जोड़े होते तो परिणाम भिन्न होता।

श्रीलंका ने भारत को नौ विकेट पर 264 रन ही बनाने दिये और फिर आठ विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। मध्यक्रम लड़खड़ाने के कारण भारत बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहा।

कोहली ने मैच के बाद कहा कि हम बल्लेबाजी में अधिक बुद्धिमानी से काम ले सकते थे। हम 25-30 रन और जोड़ सकते थे। उन्होंने हालांकि गेंदबाजों की प्रशंसा की और कहा कि काफी ओस पड़ने के बावजूद वे मैच को आखिर ओवर तक ले जाने में सफल रहे।

कोहली ने कहा कि मैं समझता हूं कि हमारे गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया। आखिर में काफी ओस पड़ रही थी। हमने इतनी अधिक ओस की उम्मीद नहीं की थी क्योंकि कल इतनी ओस नहीं थी लेकिन श्रेय गेंदबाजों को जाता है जो मैच को आखिरी ओवर तक ले गए। रविंद्र जडेजा ने बेहतरीन गेंदबाजी की। 

भारतीय कप्तान ने कहा कि टीम को इस मैच की गलतियों से सबक लेकर पाकिस्तान के खिलाफ दो मार्च को होने वाले महत्वपूर्ण मैच में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। उन्होंने कहा कि हमें जल्द ही अगले मैच के लिए तैयार होना होगा। हमें अगले मैच के लिए उन क्षेत्रों में जल्द से जल्द सुधार करना होगा जिनमें हमारा प्रदर्शन अच्छा नहीं है।

श्रीलंका के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने अपने रहस्यमयी गेंदबाज अजंता मेंडिस और शतकवीर कुमार संगकारा की जमकर तारीफ की जिन्होंने मैच में मुख्य अंतर पैदा किया। मैथ्यूज ने कहा कि हम अच्छी क्रिकेट खेलना चाहते थे और हमने उन्हें 260 रन के करीब रोककर अच्छा प्रदर्शन किया। स्पिनरों ने बेहतरीन भूमिका निभायी और फिर चैंपियन (संगकारा) ने बेजोड़ पारी खेली।

कोहली की तरह मैथ्यूज ने भी स्वीकार किया कि ओस की भूमिका अहम रही। उन्होंने कहा कि ओस की भूमिका भी रही लेकिन हमारे स्पिनरों ने शानदार प्रदर्शन किया। मेंडिस हमारा ट्रंप कार्ड है। संगकारा ने 103 रन बनाए और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने भी कहा कि ओस के कारण उनका काम आसान हो गया था।

इस स्टार बल्लेबाज ने कहा कि ओस के कारण मेरा काम आसान हो गया था। मेरा काम अधिक से अधिक समय तक क्रीज पर टिके रहना था। पहले विकेट के लिए हमारी अच्छी साझेदारी रही जिससे ठोस नींव पड़ी। इसके बाद जब आखिर में तिसारा परेरा दूसरे छोर पर था तो हम जानते थे कि वह टीम को लक्ष्य तक पहुंचा देगा।

उन्होंने कहा कि दबाव से पार पाना अनुभव से आता है। चतुरंगा डिसिल्वा अपना दूसरा वनडे खेल रहा था। उसे गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण में अच्छा प्रदर्शन किया। कुल मिलाकर यह जीत पूरी टीम के प्रयास से मिली।

संगकारा ने अपने फॉर्म के बारे में कहा कि पिछले कुछ महीने मेरे लिए अच्छे रहे। मैंने अपनी फिटनेस पर काफी काम किया और अनुभव हमेशा मायने रखता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हम 25-30 रन और बना सकते थे : कोहली