DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘दस नंबरी गांधी’ के चलते हुई आंध्र में अराजकता: मोदी

‘दस नंबरी गांधी’ के चलते हुई आंध्र में अराजकता: मोदी

आंध्र प्रदेश के बंटवारे के दौरान मची अराजकता के लिए सोनिया गांधी को जिम्मेदार ठहराते हुए भाजपा के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने उन्हें 10 नंबरी करार दिया। मोदी का इशारा कांग्रेस अध्यक्ष के निवास स्थान 10 जनपथ की तरफ था। मगर 10 नंबरी शब्द का इस्तेमाल बदमाशी के संदर्भ में भी किया जाता है।

अभी पिछले दिनों ही कांग्रेस नेता और विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने मोदी को नपुंसक कहा था। इस पर अगले दिन राहुल गांधी ने नाराजगी जाहिर की थी। बीजेपी ने भी राजनीतिक सभ्यता का हवाला दिया था। देखना होगा कि अब मोदी का ये बयान क्या गुल खिलाता है।

कर्नाटक के गुलबर्गा इलाके में शुक्रवार को एक रैली संबोधित करते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री बोले कि देखिए 10 नंबरी गांधी ने क्या किया आंध्र प्रदेश के साथ। कांग्रेस ने बच्चा पैदा करने के साथ ही मां को मार दिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी भी चाहती है कि तेलंगाना बने और सीमांध्रा भी खूब तरक्की करे, मगर कांग्रेस तो उस डॉक्टर की तरह पेश आई, जो जचगी के बाद मां को ही मार देता है। मोदी ने कहा कि हम मां और बच्चा, दोनों को बचाना चाहते हैं।

तेलंगाना बनाने का श्रेय कांग्रेसियों द्वारा लिए जाने पर कटाक्ष करते हुए नरेंद्र मोदी बोले कि मैं सलाम करता हूं उन सभी को, जिन्होंने अपनी छाती पर गोलियां झेलीं तेलंगाना राज्य बनाने के लिए। फिर पुराने राज्य के घावों पर मरहम रखते हुए मोदी बोले कि मैं सीमांध्रा जाऊंगा और सारे प्रयास करूंगा, ताकि वहां के लोगों के घाव भर सकें।

गुलबर्गा के लोगों को इतिहास की याद दिलाते हुए मोदी बोले कि देश 1947 में आजाद हुआ था, मगर गुलबर्गा नहीं। सरदार पटेल ने हैदराबाद के निजाम पर दबाव बनाया, तब गुलबर्गा आजाद हुआ। अगर सरदार नहीं होते, तो हैदराबाद और गुलबर्गा जाने के लिए पाकिस्तान का वीजा लेना पड़ता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘दस नंबरी गांधी’ के चलते हुई आंध्र में अराजकता: मोदी