DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड को विशेष राज्य का दर्जा को लेकर चर्चा

डुमरी। प्रतिनिधि। झारखंड को विशेष राज्य का दर्जा क्यों नही विषय पर आजसू पार्टी के बुद्धिजीवी मंच की बैठक शुक्रवार को बरनवाल धर्मशाला में हुई। जेएसएस के केन्द्रीय सचवि रमेश मुनी की अध्यक्षता व छक्कन महतो के संचालन में हुई बैठक में डा. यूसी मेहता व डुमरी विधानसभा प्रभारी दामोदर प्रसाद महतो मुख्य रूप से उपस्थित थे। बैठक को सम्बोधित करते हुए श्री मेहता ने कहा कि केन्द्र सरकार को अकेले झारखंड के 40 प्रतिशत राजस्व की प्राप्ति होती है। इसके बाद भी झारखंड को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया गया।

दामोदर महतो ने कहा कि झारखंड राज्य खनिज सम्पदा से भरा हुआ है। यहां कोयला, लोहा, तांबा, बाक्साईड व बिजली का उत्पादन होता है, जिसका मालिकाना हक केन्द्र सरकार को है। राज्य के लोग गरीबी व संसाधनों के आभाव में जीने को मजबूर हैं। झारखंड विशेष राज्य की सारी अहर्ताओं को पूरी करता है। रघुराजन कमिटी की रिपोर्ट के अनुसार भी झारखंड राज्य को पिछड़ा राज्य की सूची में रखा गया है। बावजूद इसके केन्द्र सरकार भेदभाव पूर्ण रवैया अपना रही है।

उन्होंने कहा कि विशेष राज्य का दर्जा पाने तक आन्दोलन चलता रहेगा। इस मौके पर हिमांशु महतो, इंदवार प्रसाद, धनंजय किशोर, रेशमा सिद्दीकी, विनय कुमार, दुलारचन्द महतो, विजय महतो, पप्पू कुमार आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झारखंड को विशेष राज्य का दर्जा को लेकर चर्चा